उत्तराखंड पुलिस का मानवीय चेहरा, 24 घंटे जरूरतमंदों की कर रही मदद

उत्तराखंड पुलिस का मानवीय चेहरा, 24 घंटे जरूरतमंदों की कर रही मदद

उत्तराखंड पुलिस का मानवीय चेहरा, 24 घंटे जरूरतमंदों की कर रही मदद

उत्तराखंड पुलिस का मानवीय चेहरा-कंही आधी रात को पहुंचा रही ऑक्सीजन तो कंही निभा रही परिवार का फर्ज

देहरादून(अरुण शर्मा)। कोरोना की इस महामारी में हर कंही त्राहि त्राहि मची हुई है।

इसमे उत्तराखंड पुलिस का मानवीय चेहरा लोगों को सकून देने का का काम कर रही है।

उत्तराखंड के अलग जगहों से उत्तराखंड की मित्र पुलिस लोगों की हर संभव मदद में जुटी हुई है।

यह भी पढ़े- देहरादून में अपने मरीज के लिए oxygen ढूढ रहे है तो महंत इंद्रेश में करे सम्पर्क

पूरे प्रदेश में कई ऐसे मामले देखने को मिल रहे है जंहा पुलिस न केवल लोगों की जिंदगी बचने में मदद कर रही है अपितु पीड़ित परिवार का हर तरह से सहारा बनने का प्रयास कर रही है।

बुधवार को दो ऐसे ही मामलों का जिक्र करना जरूरी है जंहा पुलिस ने न केवल लीक से हटकर लोगों की मदद की।

बल्कि कोरोना से टूट चुके परिवार के पारिवारिक कर्तव्य को भी पूरा करने में मदद की।

हरिद्वार में एक ट्वीट पर आधी रात को पहुंचाई ऑक्सीजन तो हल्द्वानी में

उत्तराखंड पुलिस का मानवीय चेहराकोरोना संक्रमण मृत्यु से जब परिवार हुआ लाचार
तब मृतक का पुलिस ने कराया अंतिम संस्कार

एक ट्वीट पर आधी रात को दी जिंदगी

 

आधी रात हरिद्वार पुलिस को ट्वीट किया गया कि पेशेंट की कंडीशन क्रिटिकल है, ऑक्सीजन लेवल डाउन है ICU BED या ऑक्सीजन की आवश्यकता है…

जिस पर मीडिया सैल हरिद्वार पुलिस द्वारा तत्काल दिये गए नंबर पर काॅल की जिस पर अभिषेक द्वारा बताया गया मैं उनका बेटा बोल रहा हूं पापा की तबीयत खराब है हमको तुरंत ऑक्सीजन की आवश्यकता है।

स्थिति को देखते हुए सिडकुल नाइट ऑफिसर सब इंस्पेक्टर संदीप चौहान ने गैस प्लांट क्षेत्र, रानीपुर से किसी तरह ऑक्सीजन सिलेण्डर भरवाकर रात 1 बजे पेशेंट के घर पहुंचाया।

पेशेंट की लडकी कोमल द्वारा बताया गया कि मैं स्वयं मेदांता दिल्ली में जाॅब करती हूं

हमको ICU BED की नही ऑक्सीजन की आवश्यकता थी। हमने सब जगह कोशिश कर ली…

कहीं से भी सहायता प्राप्त नहीं हुई हरिद्वार पुलिस द्वारा एक ट्वीट पर ही इतनी बड़ी हैल्प कर दी कि मेरे पापा को एक जिंदगी मिल जाएगी

तथा हरिद्वार पुलिस का धन्यवाद किया गया l

अपनो का फर्ज पूरा करती मित्र पुलिस

हल्द्वानी के थाना मुखानी पुलिस को सूचना मिली कि थाना मुखानी में हरीश चंद्र जोशी की मृत्यु कोरोना संक्रमण के कारण हो चुकी है।

उनका पुत्र भी कोरोना संक्रमण के कारण सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में एडमिट है

जिस कारण पुत्र अपने पिता के अंतिम संस्कार हेतु आने में सक्षम नहीं है घर के सदस्यों में केवल मृतक की पत्नी, बहु एवं एक पोती ही घर में मौजूद है।

सूचना पर थाना मुखानी पुलिस द्वारा मानवता के आधार पर पूर्णत: कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मृतक हरीश चंद्र जोशी का हिंदू रीति रिवाज के साथ अंतिम संस्कार कराया गया।

admin

One thought on “उत्तराखंड पुलिस का मानवीय चेहरा, 24 घंटे जरूरतमंदों की कर रही मदद

Comments are closed.