किंग कोबरा को पलक झपकते ही कर लेता है काबू ,शौक बन गया पेशा

किंग कोबरा को पलक झपकते ही कर लेता है काबू ,शौक बन गया पेशा
किंग कोबरा को हाथों से पकड़कर थैले में भर लेता है ये शख्स,नजारा खौफनाक है।
रामनगर(कमल खड़का)। किंग कोबरा को देख कर सभी का दरक मारे पसीना निकल जाता है।
लेकिन किंग कोबरा जैसे दुर्लभ वन्य जीवों के संरक्षण में लगे कश्यप के यह महज एक काम लगता है।
इस काम मे उनकी टीम निरंतर प्रयास कर रही है,उनकी टीम में एक बच्चा भी है जो बिना डरे दुर्लभ और खतरनाक वन्य जीवों आसानी से पकड़ता है।
कश्यप की टीम के काम की एक बानगी उस समय देखने को मिली जब रामनगर में जब 14 फ़ीट लंबा किंग कोबरा आबादी वाले क्षेत्र में आ गया।
किंग कोबरा को आसानी से पकड़ लेता है ये शख्सजिसके बाद लोगों में हड़कंप मच गया,आननफानन में वन विभाग को सूचना दी गई।
दरअसल कॉर्बेट लैंडस्केप से लगे हुए सावल्दें गांव में 14 फुट का किंग कोबरा मिलने से हड़कंप मच गया।
सूचना मिलते ही सेव द स्नेक एंड वेलफेयर सोसाइटी के सदस्य मौके पर पहुंचे।
कड़ी मशक्कत के बाद उन्होंने सांप का सुरक्षित तरीके से रेस्क्यू किया।
कॉर्बेट लैंडस्केप से लगते हुए गांव में दुर्लभ प्रजातियों के सांप और वन्यजीव अक्सर देखने को मिलते रहते हैं।
इस क्षेत्र में कार्य कर रही सेव द स्नेक सोसाइटी इन सांपों का रेस्क्यू कर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर जंगलों में छोड़ देती है।
शनिवार को भी कॉर्बेट के रेंज अधिकारी संदीप गिरि को सावल्दें गांव में सांप की सूचना मिली थी।
उन्होंने इसकी जानकारी द स्नेक सोसायटी के अध्यक्ष सर्प विशेषज्ञ चंद सेन कश्यप को दी।
चंद सेन कश्यप अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और किंग कोबरा का सुरक्षित रेस्क्यू किया।
कश्यप ने बताया कि पकड़े गए किंग कोबरा की लंबाई 14 फीट है।

admin

One thought on “किंग कोबरा को पलक झपकते ही कर लेता है काबू ,शौक बन गया पेशा

Comments are closed.