कोटद्वार में बन रही थी रेमेडिसिवर, दिल्ली क्राइम ब्रांच ने छापे में किया बड़ा खुलासा

कोटद्वार में बन रही थी रेमेडिसिवर, दिल्ली क्राइम ब्रांच ने छापे में किया बड़ा खुलासा

उत्तराखंड के हरिद्वार, रुड़की और कोटद्वार में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन तैयार करने वाली फैक्ट्री का दिल्ली क्राइम ब्रांच पुलिस ने पर्दाफाश किया है।

मामले में एक महिला सहित कुल पांच आरोपियों को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है।

आरोपी नकली रेमडेसिविर को 25 हजार रुपये प्रति इंजेक्शन कोविड मरीज के परिजनों को बेच रहे थे।

बताया जा रहा है कि अभी तक इन लोगों ने दो हजार से ज्यादा नकली डोज मरीज के परिजनों को बेच चुके हैं।

खास खबर-उत्तराखंड में कोविड को लेकर हाई कोर्ट ने सरकार को दिए निर्देश

दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने ट्वीट कर इस फैक्ट्री पर छापेमारी की जानकारी दी है।

पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस को बताया था कि वह एक महिला से इंजेक्शन लेकर इसे अस्पताल के बाहर मरीज के परिजनों को 25 से 40 हजार रुपये में बेचते थे।

कोटद्वार में बन रही थी रेमेडिसिवरइस जानकारी पर पुलिस टीम ने दिल्ली से महिला सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

पूछताछ के दौरान महिला ने पुलिस को बताया कि वह उत्तराखंड के रुड़की निवासी वतन सिंह से रेमेडेसिविर लेकर उसे आगे बेचने के लिए देती थी।

इस खुलासे पर क्राइम ब्रांच की एक टीम उत्तराखंड पहुंची और वहां से वतन सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

उसके पास से रेमडेसिविर की जो डोज बरामद हुई हैं।

उसके नकली होने का शक पुलिस अधिकारियों को हुआ. पुलिस ने आरोपी को अदालत के समक्ष पेश कर रिमांड पर लिया.।

उसने पुलिस को बताया कि वह कोटद्वार में नकली रेमडेसिविर तैयार कर उसे कोविड मरीजों के परिजनों को बेचता है।

इसके लिए उसने लोगों के बीच अपने नंबर को भी वायरल किया था.

admin