भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की जयन्ती पर उन्हें किया याद

भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की जयन्ती पर उन्हें किया याद

देहरादून(अरुण शर्मा)। भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की 96वीं जयंती के अवसर पर उन्हें ओर देश मे याद किया गया।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंसर सिंह रावत सहित तमाम नेताओं ने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की।

खास खबर-फ़ेसबुक पर विदेशी महिला की फ्रेंड रिक्वेस्ट आपको बना सकती है कंगाल,पढ़े कैसे?

मुख्यमंत्र त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की जयंती को सुशासन दिवस के रूप मे मनाया जा रहा है।

भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी
भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर परिचर्चा

वाजपेयी ने ही दशकों से चले आ रहे उत्तराखण्ड राज्य निर्माण के संघर्ष का सम्मान करते हुए अलग राज्य का सपना साकार किया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने भ्रष्टाचार पर जीरो टालरेंस की नीति पर चलते हुए सुशासन के लिए अनेक महत्वपूर्ण पहल की हैं।

भ्रष्टाचार मुक्त पारदर्शी सुशासन के लिए ईमानदारी से किये गये हमारे प्रयासों से शासन-प्रशासन की कार्यसंस्कृति में गुणात्मक सुधार हुआ है।

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने देहरादून में अपने यमुना कॉलोनी स्थित आवास पर अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने 96 विधानसभा कार्मिकों को कोरोना से बचाव के लिए शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु कोरोनिल किट एवं हेंड सैनिटाइजर भी वितरित किए।

वहीं पत्रकारों से बातचीत में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि स्व. अटल ने जीवन पर्यन्त राष्ट्रहित को सर्वोपरि माना।

उनके व्यक्तित्व का आकर्षण ऐसा था कि उनके चिरविरोधी, जिनका उनसे वैचारिक मतभेद था, वे भी उनका हृदय से सम्मान करते थे।

भले ही आज अटल जी इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन वह अपने विचारों के माध्यम से हमेशा हमारे बीच जीवित रहेंगे।

पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के निर्माण में न सिर्फ उनकी अहम भूमिका रही, बल्कि इससे उनका विशेष लगाव भी था।

admin