उत्तराखंड हाइकोर्ट ने राजाजी नेशनल पार्क के अतिक्रमण पर दिए निर्देश

उत्तराखंड हाइकोर्ट ने राजाजी नेशनल पार्क के अतिक्रमण पर दिए निर्देश

नैनीताल(कमल खड़का)। उत्तराखंड हाइकोर्ट ने राजाजी नेशनल पार्क में हुए अतिक्रमण को लेकर सख्त रुख दिखाया।

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने पुरानी जांच कमेटी को भंग कर राज्य सरकार से एक नई जिला स्तरीय कमेटी गठित करने को कहा है।

खास खबर- उत्तराखंड में सुपर 30 क्लास दिखायेगा छात्रों को नई राह,पहल सरकारी है

उत्तराखंड हाइकोर्ट ने राजाजी नेशनल पार्क के कुनाऊ गाँव मे मुनि चिदानंद व पुरषोतम दत्त शर्मा के खिलाफ रिजर्व फारेस्ट की भूमि पर अतिक्रमण पर दायर जनहित याचिका पर सुनवाई की।
उत्तराखंड हाइकोर्ट ने राजाजी नेशनल पार्क के अतिक्रमण दिए निर्देश
खण्डपीठ ने पुरानी जांच कमेटी को भंग कर राज्य सरकार से एक नई जिला स्तरीय कमेटी गठित करने को कहा है ।
कोर्ट ने कमेटी को यह निर्देश दिए है वहाँ पर अवैध रूप से रह रहे लोगो की जांच कर रिपोर्ट 29 दिसम्बर तक कोर्ट में पेश करने को कहा है।
याचिका की सुनवाई कार्यवाहक मुख्य न्यायधीश रवि कुमार मलिमथ व न्यायमुर्त्ति आलोक कुमार वर्मा की खण्डपीठ में हुई।
मामले के अनुसार हरिद्वार निवासी अधिवक्ता विवेक शुक्ला ने जनहित याचिका में कहा गया है ।
कि मुनि चिदानंद व उनके सहयोगी द्वारा हरिद्वार से 14 किलोमीटर आगे राजाजी नेशनल पार्क के भीतर कुनाऊ गाव में फारेस्ट की रिजर्व भूमि पर 135 बीघा जमीन पर अतिक्रमण किया गया है।
2006 से भारी निर्माण कार्य पर वन विभाग कोई कार्यवाही नही कर रहा है।
जबकि याचिकर्ता द्वारा वन विभाग व राज्य सरकार के उच्च अधिकारियों को बार बार इसकी सूचना दी गयी ।
मामले की अगली सुनवाई 29 दिसम्बर को होगी।

admin