Harish Rawat Sting मामले में हरक सिंह का नाम आने का संजय ​ने किया विरोध

Harish Rawat Sting मामले में हरक सिंह का नाम आने का संजय ​ने किया विरोध

हरिद्वार( विकास चौहान)। उत्तराखंड सरकार व वन एवं पर्यावरण, आयुष श्रम सेवा आयोजन कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ​का नाम हरीश रावत स्टिंग(Sting) प्रकरण में आने का पूर जोर विरोध करते हुए व कांग्रेसियो द्वारा कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के इस्तीफे की मांग को पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, भाजपा के वरिष्ठ नेता संजय चोपड़ा ने सिरे से खारिज करते हुए एक बैठक आहूत की। बैठक में सभी सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियो ने शिरकत करते कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत का खुला समर्थन करते हुए उनके खिलाफ की जा रही साजिश व षड्यंत्र व अनाब-शनाब बयानबाजी की घोर निंदा की और षड्यंत्रकार्यो के खुलासे की भी मांग की।

खास खबर :— देवप्रयाग में Liquor फैक्ट्री लगाए जाने के विरोध में 54 दिन चला अनशन स्थगित

बैठक में पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, वरिष्ठ भाजपा नेता संजय चोपड़ा ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के नेतृत्व में कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत उत्तराखंड के सर्वंज्ञ विकास के लिए कार्य कर रहे है उनकी दिन प्रतिदिन लोकप्रियता से घबराए हुए कांग्रेसी व यू.के.डी. के नेता बेतुकी बयानबाजी करके जनता का ध्यान भटकाकर डॉ हरक सिंह रावत की छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे है इसे कतेई बर्दाश्त नही किया जाएगा। उन्होंने कहा जिस प्रकार से 2016 में देश के सभी टीवी चैनलो पर विधायको की खरीद-फरोद का मामला पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा किया जा रहा था वह सब कुछ जग-जाहिर है अब डॉ. हरक सिंह रावत को जबरन स्टिंग मामले में घसीटा जाना साफ साफ षड्यंत्र जैसा प्रतीत होता है। उन्होंने कहा कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के खुले समर्थन में सभी सामाजिक संगठन के प्रतिनिधि एकजुटता से उनके साथ खड़े है।

इस अवसर पर बैठक में व्यापारी नेता राजेश खुराना, श्रमिक नेता आर.एस. रतूड़ी, भूपेंद्र राजपूत ने संयुक्त रूप से कहा कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत जनता के बीच मे रहकर जनता की समस्याओं के लिए तीरगति से कार्य करने में उनको महारत हासिल है कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के राजनीतिक जीवन मे आरोप-प्रत्यारोप लगते रहे है लेकिन जांच होने के उपरांत आज तक कोई भी आरोप सिद्ध नही हो पाए है अब सीबीआई द्वारा जिस प्रकार से जबरन डॉ. हरक सिंह रावत का नाम घसीटा जाना निंदनीय है जबकि डॉ. रावत का इस स्टिंग प्रकरण से दूर तक कोई सरोकार नही है। उन्होंने डॉ. रावत के खिलाफ अंगलत बयानबाजी करने वालो की घोर नींदा करते हुए डॉ. रावत के समर्थन में एकजुटता का आव्हान किया।

admin