चमोली के सुमना में ग्लेशियर टूटा, बर्फबारी से राहत बचाव में आ रही मुश्किलें

चमोली के सुमना में ग्लेशियर टूटा, बर्फबारी से राहत बचाव में आ रही मुश्किलें

चमोली के सुमना में ग्लेशियर टूटा, बर्फबारी से राहत बचाव में आ रही मुश्किलें

देहरादून(अरुण शर्मा)। चमोली के सुमना में ग्लेशियर टूटने की घटना – SDRF घटनास्थल के लिए रवाना

रात 10:16 बजे चमोली कंट्रोल रूम द्वारा सूचना दी गई की सुमना पोस्ट से आगे रिमझिम पोस्ट की तरफ ग्लेशियर टूटने की घटना हुई है जहां Greef द्वारा पुल निर्माण का कार्य किया जा रहा था।

खास खबर-उत्तराखंड में टेलीमेडिसिन पर लोग उठा रहे लाभ,घर बैठे मिल रही काम की सलाह

सीएम तीरथ सिंह रावत ने हर संभव मदद का आश्वाशन दिया है, उन्होंने ग्रह मंत्री अमित शाह का भी तुरंत मदद के लिए धन्यवाद किया।

ताजा मिल रही जानकारी के अनुसार 200 से अधिक लोगों को मौके से बाहर निकाल लिया गया है। जबकि दो लोगों के शव भी बरामद किए गए है।

उक्त घटना की जानकारी प्राप्त होते ही बचाव इकाइयां ,शासन व प्रशासन तत्काल हरकत में आ गया ।

रात्रि मौसम अत्यधिक खराब होने व अत्यधिक बर्फबारी से मार्ग अवरुद्ध होने के बाद भी SDRF रेस्क्यू टीम इंस्पेक्टर हरक सिंह राणा के नेतृत्व में रेस्क्यू हेतु रवाना हुई।

जोशीमठ से 31 किलोमीटर आगे रात्रि में ही सुराईथोटा पहुंचे जहां ग्रीफ का बेस कैंप है ग्रीफ कमांडर से संपर्क किया गया ग्रीफ बेस कैंप से 31 किलोमीटर आगे मलारी है और वहां से 16 किलोमीटर आगे सुमना पोस्ट है जहां चमोली डिस्ट्रिक्ट कंट्रोल ने घटना होना बताया है ।

SDRF रेस्क्यू टीम इंचार्ज इंस्पेक्टर हरक सिंह राणा द्वारा सेटेलाइट फोन के माध्यम से अवगत कराया गया है कि SDRF की 9 सदस्यीय टीम बर्फबारी से रास्ता अवरुद्ध होने के कारण पैदल भाप कुंड पहुंची है और ग्रीफ के 20 जवानों के साथ पैदल ही घटनास्थल पर जा रही है!

इसके साथ ही SDRF की एक टीम रतूड़ा से जोशीमठ पहुंच गई है इसके अलावा दो टीमों को मय रेस्क्यू उपकरणों व आवश्यक सामग्री के वाहिनी मुख्यालय व सहस्त्रधारा पोस्ट पर अलर्ट में रखा गया है जो आवश्यकता पड़ने पर तत्काल घटनास्थल हेतु रवाना होगी !

admin