हरिद्वार (कमल खडका) । भूपतवाला स्थित स्वतंत्रपुरी धाम आश्रम में 12वां गणपति (Ganpati) महोत्सव धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। महोत्सव के लगाए गए पूजा पण्डाल में गणपति (Ganpati) की विशाल पीतल की मूर्ति स्थापित की गयी। महंत केदारपुरी महाराज ने कहा कि 12 वर्षो से लगातार गणपति (Ganpati) महोत्सव मनाया जा रहा है। स्वतंत्रपुरी धाम के क्षेत्र निवासी भगवान गणेश के दर्शन कर पूजा अर्चना में भाग लेते चले आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि गंगा को प्रदूषण मुक्त करने की पहल के चलते गणेश की प्रतिमा पीतल की बनायी गयी है।

खास खबर :— देश के अग्रणी विश्वविद्यालयों में शामिल होगा गुरूकुल University : डॉ सत्यपाल

12 सितम्बर को प्रतीकात्मक रूप से गणेश प्रतिमा का पूर्ण विधि विधान व भजन संध्या के साथ विसर्जन किया जाएगा। भगवान गणेश दुखों का हरण करने वाले देव हैं। अधिक से अधिक भगवान गणेश की पूजा प्रत्येक घर में होनी चाहिए। भगवान गणेश का नाम लेने से ही परिवारों का कल्याण होता है। कष्टों से मुक्ति मिलती है। महंत केदारपुरी महाराज ने कहा कि सनातन परंपराओं का निर्वहन संत समाज करता चला आ रहा है। गणपति महोत्सव के चलते श्रद्धालु भक्तों को भगवान गणेश की शक्तियों का बखान भी किया जाता है। महंत अन्नपूर्णा पुरी ने कहा कि देश भर में गणपति महोत्सव धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। भगवान गणेश की पूजा अर्चना करने से परिवारों में सुख समृद्धि का वास होता है। हमें विधि विधान के साथ ही भगवान गणेश की पूजा सच्चे मन से करनी चाहिए। व्यक्ति का उद्धार तभी संभव है जब वह अपने अंदर छुपी हुई दुर्भावनाओं को दूर कर समाज के उत्थान में अपना योगदान दे। लगातार समाज उत्थान को लेकर प्रत्येक नागरिक को अपनी कर्तव्य निष्ठा को निभाना चाहिए। महंत अन्नपूर्णा ने यह भी आह्वान किया कि भगवान गणेश की प्रतिमा विसर्जन के दौरान गंगा में प्लास्टिक पन्नियां, पुराने कपड़े, पूजा सामग्री आदि को नहीं फेंकना चाहिए। गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए सभी को अपना सहयोग देना चाहिए। सोनू शर्मा ने कहा कि स्वतंत्रपुरी धाम में गणेश महोत्सव की धूम दिखाई दे रही है। भगवान गणेश का गुणमान श्रद्धालु मन सच्चे मन से कर रहे हैं। भक्ति भावना में लीन होकर भगवान गणेश की पूजा अर्चना श्रद्धालु भक्त कर रहे हैं। इस अवसर पर सचिव देव शर्मा, सोनू कुमार, लक्ष्मी नारायण पुरी, राधे श्यामपुरी, छविराम पुरी, सुखदेव पुरी, राजानंद पुरी, इंद्रपुरी, मोहर पुरी, शंकर भण्डारी, रवि बेदी, सोनू शर्मा, मनोज रावत, छिन्दरपाल मर्सी, सुरेश कुमार बिहारी, किशन, विकास, जीतराम, महेश पुरी, रविकांत अग्रवाल, सोमी वधावन, वेदप्रकाश, पवन चैहान आदि मौजूद रहे।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *