संसद भवन और हावड़ा ब्रिज वाली तकनीक से जगमग होगा “डोबरा चांठी” पुल, जानिए इसकी खूबी

संसद भवन और हावड़ा ब्रिज वाली तकनीक से जगमग होगा “डोबरा चांठी” पुल, जानिए इसकी खूबी

देहरादून(अरुण शर्मा)। दिल्ली के संसद भवन, सिग्नेचर ब्रिज और कोलकाता में हावड़ा ब्रिज की तर्ज पर ही जगमगायेगा टिहरी का डोबरा चांठी पुल।

उत्तराखंड में पहली बार फ़साड लाइट का किसी पुल पर प्रयोग किया गया है।

6 करोड़ की लागत से अत्याधुनिक फसाड लाइटिंग सिस्टम पर्यटको के लिए आकर्षण का केंद्र होगा।

फ़साड लाइटिंग सिस्टम में 20 तरह की थीम अपलोड की गई है।

होली, दीवाली, स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस आदि महत्वपूर्ण मौकों पर पुल उसी तरह की रोशनी में जगमग रहेगा।

पुल पर लगी फ़साड लाइट को दिल्ली से ही ऑपरेट किया जाएगा।

उदघाटन के बाद पुल पर शाम को 7 बजे से रात 9 बजे तक फ़साड लाइट अपना जलवा बिखेरेंगी।

डोबरा-चांठी पुल पर फ़साड लाइट लगाने वाले आनंद ने बताते है कि फसाड लाइट विशेष प्रकार लाइट होती है।

वह एक ही जगह पर फोकस रहती है, यह रोशनी इधर-उधर नहीं बिखरती।

उन्होंने बताया कि 2018 में इसकी शुरुआत दिल्ली से हुई थी।

admin