पहाड़ी रास्ता पैदल तय कर लोगों की समस्या सुनने पहुँचे ये जिलाधिकारी

पहाड़ी रास्ता पैदल तय कर लोगों की समस्या सुनने पहुँचे ये जिलाधिकारी

पहाड़ी रास्ता पैदल तय कर लोगों की समस्या सुनने पहुँचे डीएम सविन बंसल।

डीएम सविन बंसल की इस मुहीम का सीएम त्रिवेंद्र भी कर चुके है तारीफ।

 

नैनीताल(अरुण शर्मा)। कई किलोमीटर का पहाड़ी रास्ता पैदल सफर तय करके जिलाधिकारी ने सुनी लोगों की समस्याएं।

नैनीताल के जिलाधिकारी सविन बंसल करीब 12 किलोमीटर का दुर्गम पहाड़ी रास्ता पैदल चलकर खिलाड के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पहुचे।

दुर्गम इलाके में आयोजित बहुउददेशीय शिविरमें लोगों का दुख-दर्द जाना और उनकी समस्याओ का मौके पर ही निस्तारण किया।

यह भी पढ़े-भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के उत्तराखंड दौरे के पहले दिन की पूरी हलचल

दुर्गम जगह जाने के लिए जिलाधिकारी सविन बंसल ने सुबह 7 बजे पैदल अपना सफर शुरू किया।

घंटों का पैदल सफर तय करने के बाद डीएम खिलाड़ पहुँचे।

पहाड़ी रास्ता पैदल
पहाड़ी रास्ता पैदल तय कर दूरस्थ गांव पहुंचे डीएम सविन बंसल

जिलाधिकारी को अपने बीच पाकर बुजुर्ग बच्चे महिलाये खुशी से झूम उठे और उन्होेने गर्मजोशी के साथ युवा जिलाधिकारी बंसल का स्वागत किया।

यह भी पढ़े-उत्तराखंड में कमाल का डीएम,सरकार से अलग गर्भवती महिलाओं के लिए उठाया ये बड़ा कदम

जनपद के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगो तक सरकारी सुविधाओं का लाभ पहुंचाने के लिए डीएम नैनीताल ने मुहीम चलाई है।

इसमे मुहिम चलाकर जनपद के दूरस्थ क्षेत्रों में लगातार कैंप आयोजित कर जनता को लाभान्वित किया जा रहा है।

जिसकी तारीफ स्वयं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी कर चुके है। दूसरे डीएम को भी उनसे सीखने की नसीहत भी दी थी।

राजकीय उच्ततर माध्यमिक विद्यालय खलाड मे आयोजित बहुउददेशीय शिविर मे जिलाधिकारी ने कक्ष,

पहाड़ी रास्ता पैदल
पहाड़ी रास्ता पैदल तय कर खिलाड गांव में सुनी लोगों की समस्याएं

विद्यालय की चाहरदीवारी, एक कम्प्यूटर जिला योजना से स्वीकृति किये।

राष्ट्रीय पोषण मिशन के अन्तर्गत 07 आंगनबाडी केन्द्रो मे वाॅलपेटिंग एवं फर्नीचर हेतु 5-5 हजार रूपये की स्वीकृति भी दी।

साथ ही क्षेत्रवासियों की मांग पर एएनएम सेन्टर हेतु शासन को स्वीकृति हेतु पत्र लिखने के निर्देश अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये।

जिलाधिकारी बंसल द्वारा दूरस्थ क्षेत्र की जनता से संवाद करने व उनकी समस्याओ के निस्तारण हेतु दूरस्थ क्षेत्रों में शिविरो का आयोजन लगातार किया जा रहा है।

उन्होने कहा कि दूरस्थ क्षेत्र की जनता सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओ की जानकारी कम होने के कारण लाभ से वंचित रहती है।

इसलिए ऐसे शिविरोे से उन्हें जहां सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओ की जानकारी हो पाती है

साथ ही उनकी समस्याओं का भी मौके पर निस्तारण होता है।

उन्होने सम्बन्धित अधिकारियो को निर्देश दिये कि वे अपने -अपने क्षेत्रो का नियमित भ्रमण करें।

बहुउददेशीय शिविर मे लगभग 67 समस्यायें पंजीकृत हुई जिसमें से अधिकतर समस्याओ का मौके पर निस्तारण किया गया शेष शिकायतों को सम्बन्धित विभागीय अधिकारियो को भेजे गये।

जिलाधिकारी ने अधिकारियो को निर्देश दिये कि शिविर में आयी समस्याओ को त्वरित निस्तारण कर उन्हे अवगत करायें।

शिविर में आंगनबाडी बच्चो को बंसल द्वारा स्वच्छता किट वितरित किये गये तथा सात आंगनबाडी कार्यकत्रियों को जिलाधिकारी द्वारा सम्मानित किया गया।

जिलाधिकारी द्वारा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत 05 महिला स्वयं सहायता समूह स्वयं सहायता समूह जागरूक, स्वयं सहायता समूह पार्वती, स्वयं सहायता समूह गायत्री, स्वयं सहायता समूह आरती तथा स्वयं सहायता समूह चमेली को 1-1 लाख के सीसीएल चैक वितरित किये गये।

शिविर में 115 लोगो का स्वास्थ्य परीक्षण एवं दवा वितरण, 23 आधार संशोधन एवं 02 नये आधार कार्ड बनाये गये, 22 आधार हेतु आवेदन लिये गये। पूर्ति विभाग गया 03 राशन कार्ड संशोधन किये गये।

, 01 विकलांग प्रमाण पत्र जारी किया गया, 07 लोगो को श्रम कार्ड बनवाने हेतु आवेदन फार्म भरवाये गये,

18 सेवायोजन फार्म भरे गये, 02 दिव्यांग विशिष्ट पहचान पत्र, 03 विधवा पेंशन फार्म भराये,

07 पेंशन सम्बन्धित शिकायतो का निस्तारण किया गया और 22 विभिन्न पेंशन फार्म वितरित किये गये तथा 07 आय, 01 स्थाई, 01 जाति,

38 बीपीएल फार्म भरे गये तथा 13 परिवार रजिस्टर नकल वितरित किये, 03 वोटर आईडी फार्म भरवाये गये,कृषि,उद्यान विभाग द्वारा 08 लोगो को कृषि यंत्र दिये

तथा 17 काश्तकारो को बागवानी एवं कृषि के बारे मे जानकारियां दी गई।

जलसंस्थान एवं विद्युत विभाग द्वारा 6-6 बिल जमा किये गये तथा जलसंस्थान द्वारा 01 जलसंयोजन दिया गया।

शिविर में क्षेत्र की जनता ने पाठकटार से खराड तक सडक की मांग रखी जिस पर अधिशासी अभियन्ता लोनिवि ने बताया कि सडक का सर्वे कर लिया गया है।

प्रस्ताव वनभूमि स्वीकृति हेतु शासन को भेजा गया है सैद्वान्तिक स्वीकृति के उपरान्त डीपीआर बनाई जायेगी।

उप प्रधान सिरोडी ने ग्राम विकास अधिकारी के कार्य ना करने की जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को जांच कर कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

गामा देवी एवं दानसिह ने गौशाला बनाने की मांग रखी जिस पर जिलाधिकारी ने मनरेगा से कार्य कराने के निर्देश जिला विकास अधिकारी को दिये।

ब्लाक प्रमुख आन्नदी बधानी ने खलाड में एएनएम सेन्टर खोलने की मांग रखी।

प्रधान नीरू बधानी व अभिभावक संघ ने रा.उ.मा.वि मे अतिरिक्त लाइबे्ररी कक्ष, स्कूल की चाहरदीवारी, नये कम्प्यूटर की मांग रखी।

जिलाधिकारी ने तत्काल जिला योजना से स्वीकृति की घोषणा की।

इससे पूर्व जिलाधिकारी ने पानकटारा राजकीय प्राइमरी विद्यालय में लघु चैपाल लगाई जिसमे क्षेत्रीय जनता से जनसंवाद कर जनसमस्यायंे सुनी।

क्षेत्रवासियों ने नई सडक कटने से उसके मलूवे से उनकी सिचाई व पेयजल गूल ध्वस्त हो गई है उन्होने 900 मी गूल मे तीन इंच पाइप डालने की मांग रखी।

जिस पर जिलाधिकारी ने सिचाई विभाग के अधिकारियो को जिला योजना में आंगणन प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

क्षेत्रवासियो व प्रधान त्रिलोक सिह द्वारा प्राथमिक विद्यालय पानकटारा का जीर्णशीर्ण भवन का ध्वस्तीकरण कराने तथा अतिरिक्त कक्षा-कक्षो की छत मरम्मत की मांग रखी ।

जिस पर जिलाधिकारी ने खण्ड शिक्षा अधिकारी को एक सप्ताह के भीतर भवन ध्वस्तीकरण पत्रावली प्रस्तुत करने के साथ ही छत मरम्मत का आंगणन जिला योजना मे प्रस्तुत करने के निर्देश मौके पर दिये।

साथ ही प्रधान ने पानकटारा मे एएनएम सेन्टर खोलने की मांग रखी व निणर्माधीन सडक से पानकटारा गांव तक 1 किमी सडक बनाने की भी मांग रखी।

admin