हरिद्वार में भूकम्प से सहमी धर्मनगरी, लोगों में दहशत का माहौल

हरिद्वार में भूकम्प से सहमी धर्मनगरी, लोगों में दहशत का माहौल

हरिद्वार में भूकम्प के झटके किये गए महसूस।

उत्तराखंड के लिए भूकम्प हमेशा रहा है विनाशकारी।

 

हरिद्वार(कमल खड़का)। हरिद्वार में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।

भूकम्प के झटकों के साथ ही लोग अपने घरों से बाहर निकल गए। earthquake in haridwar

भूकम्प का केंद्र हरिद्वार बताया जा रहा है। मिल रही झांकती के अनुसार भूकम्प के झटके दिल्ली एनसीआर के कुछ इलाकों में भी महसूस किए गए।

यह भी पढ़े-भारत माता मंदिर में सीएम त्रिवेंद्र ने किया ये बड़ा काम

रियक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 3.9 मापी गई है।

हालांकि अभी तक किसी भी तरह के कोई जानमाल की हानि की कोई सूचना नही मिल रही है।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी मीरा कैंतूरा ने भूकंप आने की पुष्टि की है।

हरिद्वार में भूकम्प सुबह 9 बजकर 41 मिनट 50 सेकंड में महसूस किया गया।

आपको बता दे कि उत्तराखंड भूकम्प के लिहाज से बहुत ही संवेदनशील माना जाता है।

साल में कई बार इस तरह के झटके यंहा महसूस जिये जाते है।

हर बार ये झटके लोगों में दहशत पैदा करने का काम करते है।

दरअसल उत्तराखंड ने भूकम्प की त्रासदी को भी झेला है।

उत्तरकाशी का भूकम्प की तबाही सभी जेहन में अभी तक जिंदा है और जब भी उत्तराखंड में भूकम्प के खटके महसूस किए जाते है तो वह त्रासदी सबको याद आ जाती है।

इसी साल 25 अगस्त 2020 को उत्तरकाशी में भूकंप आया था।

इस दौरान भूकंप का केंद्र टिहरी गढ़वाल में था। व

हीं, रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 3.4 मापी गई थी।

इससे पहले को चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में 21 अप्रैल को भूकंप के झटके महसूस हुए थे।

इस दौरान केंद्र Chamoli जिले में था, रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 3.3 थी,

इसी साल 13 अप्रैल को Bageshwar जिले में भी भूकंप आया था। झटके महसूस होने पर लोग घरों से बाहर निकल आए थे।

इस दौरान रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 3.6 मैग्नीट्यूट आंकी गई।

admin