देहरादून(अरुण शर्मा)। भांग की खेती को लेकर उत्तराखंड सरकार प्लानिंग कर रही है।

मंगलवार को भांग की खेती को लेकर नियम बनाने को लेकर कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ओर अधिकारियों ने लंबी चर्चा की।

भांग की खेती को लेकर मंथन
भांग की खेती को लेकर मंथन करते अधिकारी और मंत्री

दरअसल उत्तराखंड सरकार भाग की खेती को लेकर ओर भांग की औषधीय उपयोग को लेकर खासी उत्साहित है।

खास खबर-पढ़े कोरोना काल मे उत्तराखंड में खुले महाविद्यालय,कैसा रहा पहला दिन

मंगलवार को विधान सभा मे अधिकारियों के साथ मंत्री की बैठक में भांग की खेती को लेकर चर्चा हुई।

भांग की खेती को जंहा किसानों की आर्थिकी से लेकर भी सरकार देख रही है।

तो वंही इसके लिए दूसरे विभागों को विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने को कहा गया है।

बैठक में हैम्प(भांग) की खेती के लिए नियम, विनियम और उपनियम के लिए विस्तृत कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये गये।

बैठक में कहा गया कि औषधीय उपयोग की मांग को लेकर अनेक फर्मों के प्रयासों को देखते हुए हैम्प के औद्यानिकी कृषि को बढावा देने का प्रयास किया जायेगा।

इस कार्य योजना से कृषकों की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी, रोजगार में वृद्धि होगी और निवेशक भी निवेश के लिए प्रेरित होंगे।

इस कार्य में चिकित्सा शिक्षा विभाग, आबकारी विभाग, आयुष विभाग के समन्वय से कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये गये।

इस अवसर पर सचिव कृषि हरबंस सिंह चुघ, निदेशक सगंध पौध केन्द्र (कैप) नृपेन्द्र सिंह चैहान सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *