देहरादून(अरुण शर्मा)।  उत्तराखंड विधानसभा के मानसून सत्र की तैयारियों को लेकर आज जायजा लिया गया।

इस बार 23 विधायकों द्वारा विधानसभा को 1,000 से अधिक प्रश्न भी प्राप्त हो चुके हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने संयुक्त रूप से विधानसभा परिसर में सभा मंडप का स्थलीय निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान सदन की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री ने संतुष्टि जताई।

विधायको के लिए सत्र में व्यवस्था…..

विधायकों को पहले अपना कोविड-19 टेस्ट करना होगा

जिसके रिजल्ट की कॉपी विधानसभा को देनी होगी।

विधायकों का टेस्ट नेगेटिव होगा वह ही सदन में प्रतिभाग करेंगे।

65 वर्ष से अधिक उम्र के विधायकों सहित सभी युवा विधायकों को भी वर्चुअल के माध्यम से सदन में प्रतिभाग करेंगे।

12 ऐसे माननीय सदस्य हैं जिनकी उम्र 65 वर्ष से अधिक है।

47 विधायकों के बैठने की व्यवस्था है

वहीं पत्रकार दीर्घा, दर्शक दीर्घा एवं अघिकारी दीर्घा में भी विधायकों के बैठने की व्यवस्था बनाई जा रही है।

राज्यपाल दीर्घा में अधिकारियों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है।

विधायकों को प्रवेश द्वार से ही सदन तक तीन बार सैनिटाइज करने की व्यवस्था की जा रही है।

साथ ही सदन में प्रवेश करते ही विधायकों को मास्क, गलप्स एवं सैनिटाइजर उपलब्ध करवाया जाएगा।

उत्तराखंड विधानसभा के 23 सितंबर से 25 सितंबर तक मानसून सत्र का आयोजन किया जाना है।

विधायको के लिए सत्र में व्यवस्था…..

विधायकों को पहले अपना कोविड-19 टेस्ट करना होगा

जिसके रिजल्ट की कॉपी विधानसभा को देनी होगी।

विधायकों का टेस्ट नेगेटिव होगा वह ही सदन में प्रतिभाग करेंगे।

65 वर्ष से अधिक उम्र के विधायकों सहित सभी युवा विधायकों को भी वर्चुअल के माध्यम से सदन में प्रतिभाग करेंगे।

12 ऐसे माननीय सदस्य हैं जिनकी उम्र 65 वर्ष से अधिक है।

47 विधायकों के बैठने की व्यवस्था है

वहीं पत्रकार दीर्घा, दर्शक दीर्घा एवं अघिकारी दीर्घा में भी विधायकों के बैठने की व्यवस्था बनाई जा रही है।

राज्यपाल दीर्घा में अधिकारियों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है।

विधायकों को प्रवेश द्वार से ही सदन तक तीन बार सैनिटाइज करने की व्यवस्था की जा रही है।

साथ ही सदन में प्रवेश करते ही विधायकों को मास्क, गलप्स एवं सैनिटाइजर उपलब्ध करवाया जाएगा

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना के बीच सत्र चलाना एक चुनौती से कम नहीं है।

उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान पूरा प्रश्नकाल चलेगा जिसमें अभी तक 23 विधायकों द्वारा विधानसभा को 1,000 से अधिक प्रश्न भी प्राप्त हो चुके हैं।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *