नैनीताल में पर्यटन के लिए तैयार हुआ खाका

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अधिकारियों के साथ कि समीक्षा

देहरादून(अरुण शर्मा)। नैनीताल में पर्यटन को नई दिशा देने का खाका तैयार हो चुका है।

इस प्लान के बाद नैनीताल ही नही इसके आस पास के इलाकों में भी इसका असर देखने को मिलेगा।

नैनीताल में पर्यटन
नैनीताल में पर्यटन

जिसके बाद यंहा आने वाले पर्यटकों को न केवल सुविधाएं मिलेंगी अपितु उनका आंनद भी दोगुना हो जाएगा।

यह भी पढ़े-हरिद्वार में नए व्यापार मंडल के गठन के पीछे की राजनीति

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नैनीताल के आस-पास के क्षेत्रों का पर्यटन की दृष्टि से विकास किये जाने पर ध्यान देने को कहा है।

उन्होंने नैनीताल सहित आस पास के क्षेत्रों में पार्किंग की व्यवस्था में भी सुधार पर ध्यान देने पर बल दिया।

सचिवालय में जिलास्तरीय प्राधिकरण नैनीताल के माध्यम से नैनीताल, सातताल, सूखाताल, हल्द्वानी तहसील भवन एवं रामनगर से सम्बन्धित विभिन्न योजनाओं से सम्बन्धित प्रस्तुतीकरण का अवलोकन किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सातताल व सूखाताल के पुनर्जीवीकरण के साथ ही इन्हें पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किये जाने पर ध्यान दिया जाय।

इन क्षेत्रों में किये जाने वाले निर्माण कार्यो में स्थानीय शिल्प शैली को उपयोग में लाये जाने, इन स्थलों को बर्ड वाचिंग स्थल के रूप में विकसित करने के लिये वन विभाग के सहयोग से चिडियों के अनुकूल वृक्षों के रोपण पर ध्यान देने को कहा।

उन्होंने इन क्षेत्रों से अवैध निर्माण हटाने के साथ ही पर्याप्त पार्किंग स्थल विकसित किये जाने पर ध्यान देने को कहा।

मुख्यमंत्री ने हल्द्वानी तहसील को शहर से बाहर उपयुक्त स्थल पर शिफ्ट करने को कहा।

इस भवन को मिनि सचिवालय के रूप में पर्याप्त पार्किंग सुविधा के साथ बहुमंजिला बनाया जाय।

ताकि अन्य आफिस भी इसमें शिफ्ट किये जा सके। मुख्यमंत्री ने रामनगर में भी पार्किंग स्थल के निर्माण पर बल दिया।

मुख्यमंत्री ने नैनीताल रोपवे निर्माण के लिये एचएमटी परिसर में भूमि उपलब्ध कराने के निर्देश सचिव राजस्व को दिये।

इस अवसर पर वीसी नैनीताल विकास प्राधिकरण रोहित मीना द्वारा प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बताया कि सातताल के समग्र विकास के लिये सातताल में पर्यटको की सुविधा के साथ ही बच्चों के लिये चिल्ड्रन पार्क की व्यवस्था बनायी जायेगी।

उन्होंने कहा कि इस पर लगभग 07 करोड़ का व्यय आगठित है।

इसी प्रकार सूखाताल के लिये बनायी जा रही योजनाओं पर लगभग 25 करोड़ का व्यय आगणित है।

उन्होंने कहा कि नैनीताल में पार्किंग के लिये भी कई स्थान चिन्हित किये गये हैं।

रामनगर में भी पार्किंग स्थल की व्यवस्था की योजना है।

नैनीताल में पर्यटन के इस खाके के बाद इसके टुरिष्म को एक नई दिशा मिलेगी।

यही नही यंहा आने वाले पर्यटकों को जो परेशानी होती थी उससे भी निजात मिल सकेगी।

उनकी इस परेशानी में पार्किंग की समस्या सबसे बड़ी थी।

 

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *