मंत्री धन सिंह रावत ने लगाई अधिकारियों की क्लास

भरसार विश्वविद्यालय में वषों से अधूरे पडे निर्माण कार्यों पर उच्च शिक्षा मंत्री ने जताई नाराजगी

देहरादून(अरुण शर्मा)। उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत धिकारियों पर बरस पड़े।

रावत भरसार विश्वविद्यालय के सालों से पड़े अधूरे काम को लेकर नाराज थे।

मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत की अध्यक्षता मे उत्तराखंड औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय भरसार में संचालित विभिन्न निर्माण कार्यों एवं विश्वविद्यालय के भरसार परिसर में रिक्त पदों की समीक्षा की गई।

यह भी पढ़े-उत्तराखंड में इगास(बग्वाल) को लेकर क्या कुछ है खास

विधानसभा स्थित कार्यालय कक्ष में आयोजित समीक्षा बैठक में डाॅ. रावत ने विश्वविद्यालय एवं कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को निर्माण कार्यों में हो रही देरी को लेकर जमकर फटकार लगाई।

उन्होंने सचिव कृषि शिक्षा हरबंस चुघ को विश्वविद्यालय से संबंधि निर्माण कार्यों एवं अन्य योजनाओं की अपने स्तर से भी समीक्षा कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

बैठक में डाॅ. रावत ने विश्वविद्यालय में महत्वपूर्ण पदों पर प्रतिनियुक्ति के आधार पर भरे जाने के निर्देश शासन एवं विश्वविद्यालय के अधिकारियों को दिये।

मंत्री धन सिंह रावत ने लगाई अधिकारियों की क्लास
मंत्री धन सिंह रावत ने लगाई अधिकारियों की क्लास

आपको बता दे कि यंहा शैक्षिणिक एवं शिक्षणेत्तर कार्मिकों के वर्षों से रिक्त पदों में से अधिष्ठाता, कुलसचिव, सहायक कुलसचिव, प्रशासनिक अधिकारी के पद काफी समय से खाली है।

इस बात पर भी नाराजगी जताई कि स्थापना के 10 साल बाद भी विश्वविद्यालय अपने उद्देश्यों को हासिल करने में सफल नहीं हो पाया।

डाॅ. रावत ने बताया कि उनके क्षेत्र भ्रमण के दौरान स्थानीय जनता एवं जन प्रतिनिधियों द्वारा विश्वविद्यालय की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाये जाते रहे हैं।

इसी के मध्यनजर उन्होंने विश्वविद्यालय के कार्यों की समीक्षा करने का निर्णय लिया।

बैठक में विश्वविद्यालय में निर्माणाधीन प्रशासनिक भवन, कुलपति आवास, बालिका छात्रावास एवं सम्पर्क मार्ग सहित अतिथि गृह के खस्ताहाल स्थिति पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई।

इस दौरान कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश निर्माण निगम एवं ब्रिडकुल के अधिकारियों ने बताया।

निर्माण कार्यों की लागत बढ़ जाने के कारण योजनाएं पूर्ण नहीं हो पाई।

जिनका रिवाइज स्टीमेट शासन को भेजा गया है।

पुनार्गणन की धनराशि स्वीकृत होते ही अधूरे कार्य पूर्ण कर लिये जायेंगे।

मंत्री धन सिंह रावत ने लगाई अधिकारियों की क्लास

विश्वविद्यालय के उप वित्त नियंत्रक ने विश्वविद्यालय के खाते में ब्याज मद से जमा रू0 2 करोड़ खर्च करने की अनुमति दिये जाने मांग शासन के समक्ष रखी।

राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण चमोली में स्थित विश्वविद्यालय के औषधि एवं सघन पादप संस्थान की दयनीय स्थिति पर नाराजगी जताते हुए क्षेत्रीय विधायक सुरेंद्र सिंह नेगी ने वहां पर स्वीकृत रिक्त पदों को शीघ्र भरे जाने व संस्थान में शैक्षिणिक गविधियां शुरू करने की मांग की।

जिस पर विभागीय सचिव ने तत्काल कार्यवाही का आश्वासन दिया।

बैठक में निर्णय लिया गया कि विश्वविद्यालय के तामम मुद्दों को लेकर पुनः 15 दिसम्बर को समीक्षा बैठक आयोजित की जायेगी।

 

मंत्री धन सिंह रावत ने लगाई अधिकारियों की क्लास जिसके बाद क्या सालों से रुके काम पूरे हो पाएंगे ये बाद सवाल है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *