हरेला पर सार्वजनिक अवकाश
 

देहरादून(अरुण शर्मा)। उत्तराखंड में अब सार्वजनिक अवकाश को लेकर त्रिवेंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

अब उत्तराखंड में हरेला पर्व पर पर सार्वजनिक अवकाश रहेगा।

हरेला पर सार्वजनिक अवकाश
हरेला पर सार्वजनिक अवकाश

बुधवार को जारी किए गए निर्देश के अनुसार अब उत्तराखंड में सार्वजनिक अवकाश की संख्या बढ़कर 24 हो गई है।

खास खबर -कैलाश हॉस्पिटल में महेश शर्मा से क्यों मील प्रेमचंद अग्रवाल

आपको बता दे कि हरेला पर्व को लेकर उत्तराखंड सरकार खासी उत्साहित थी।

उत्तराखंड के इस लोक पर्व पर त्रिवेंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए यह निर्णय लिया है।

उत्तराखंड में हरेला पर्व का महत्व

श्रावण मास में मनाये जाने वाला हरेला सामाजिक रूप से अपना विशेष महत्व रखता तथा समूचे कुमाऊँ में अति महत्वपूर्ण त्यौहारों में से एक माना जाता है।

जिस कारण इस अन्चल में यह त्यौहार अधिक धूमधाम के साथ मनाया जाता है।

जैसाकि हम सभी को विदित है कि श्रावण मास भगवान भोलेशंकर का प्रिय मास है, इसलिए हरेले के इस पर्व को कही कही हर-काली के नाम से भी जाना जाता है।

क्योंकि श्रावण मास शंकर भगवान जी को विशेष प्रिय है।

यह तो सर्वविदित ही है कि उत्तराखण्ड एक पहाड़ी प्रदेश है और पहाड़ों पर ही भगवान शंकर का वास माना जाता है।

इसलिए भी उत्तराखण्ड में श्रावण मास में पड़ने वाले हरेला का अधिक महत्व है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *