त्रिवेंद्र सरकार के साहसिक खेलों की उम्मीद को पंख लगा रही पहाड़ की बेटियां

त्रिवेंद्र सरकार के साहसिक खेलों की उम्मीद को पंख लगा रही पहाड़ की बेटियां

देहरादून(अरुण शर्मा)। साहसिक खेलों में उत्तराखंड का नाम रोशन करेगी पहाड़ की दो बेटियां।

पैराग्लाइडिंग में न केवल नाम बल्कि रोजगार की एक नई उम्मीद बन रही है सपना ओर सरिता।

दोनों शिवानी गुसाईं के बाद पैराग्लाइडिंग के क्षेत्र में नाम रोशन करने वाली पौड़ी की दूसरी बालिकाएं हैं।

दरअसल पहाड़ की इन दो बेटियों ने पौड़ी जिले के न्यारघाटी में साहसिक खेलों को रोजगारपरक बनाने का जिम्मा उठाया है।

राज्य सरकार की पहल पर इन दो बेटियों को हिमाचल के कांगड़ा ट्रैनिंग के लिए भेजा गया।

जंहा से ट्रेनिंग पूरी करने के बाद गांव पहु ची बेटियों का गांव वालों ने जमकर स्वागत किया।

हो भी क्यों न ये बेटियां ही तो क्षेत्र में रोजगार के नई उम्मीद जो है।

मुख्यमंत्री मंत्री त्रिवेंद्र रावत के गृह जनपद सतपुली के निकट नयारघाटी में बिलखेत साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने की पहल कारगर साबित होती नजर आ रही है।

रोजगार का एक मजबूत जरिया बन रहे इस खेल से लोग जुड़ भी रहे है।

अब पहाड़ की ही दो बेटियों ने साहसिक खेलों को रोजगार परक बनाने का जिम्मा उठाया है।

इसमे उनकी मदद की राज्य सरकार ने ओर इसके लिए ट्रेनिंग पर भी भेजा।

पौडी के डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल कहते हैं कि पैराग्लाइडिंग ट्रेनिंग पर हिमाँचल गयी टीम के लौटने के बाद इन्हें हिमालयन ऐरोस्पोर्ट्स एसोसिएसन में एडवांस ट्रेनिंग के लिए भी भेजा जायेगा।

वे बताते है कि इसी सिलसिले में आगामी नवम्बर माह में नयारघाटी में एडवेंचर फेस्टिवल मनाने की भी योजना है।

बिलखेत की सामान्य घरों की बालिकाओं सरिता और सपना ने पैराग्लाइडिंग ट्रेनिंग के दौरान एक सफल उड़ान भरी,

उड़ान के बाद दोनों बालिकायें अपने भविष्य के प्रति काफी उत्साहित दिखी।

admin