योगी आदित्यनाथ पिता के नहीं करेगें अतिंम दर्शन,चंद लाइनों में कह दी सारी बात

योगी आदित्यनाथ पिता के नहीं करेगें अतिंम दर्शन,चंद लाइनों में कह दी सारी बात

देहरादून(अरुण शर्मा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आंनद सिंह बिष्ट का सोमवार को निधन हो गया हैं। अपने पिता के अतिंम दर्शन में योगी आदित्यनाथ नहीं पहुंच पा रहे हैं।

खासखबर—बदीनाथ और केदारनाथ के कपाट खुलने की नयी तारिखों का ऐलान

उन्होने अपने पिता के अतिंम दर्शन की इच्छा होने की बात कही थी। लॉक डाउन के चलते वे अपने पिता के अतिंम दर्शन के लिए नहीं जा पा रहे हैं। उन्होने अपने पिता के लिए कुछ पंक्तियों के माध्यम से श्रद्वा​जलि दी हैं।

झलक आयी बेटे की आखें……

सोमवार को जब योगी आदित्यनाथ के पिता एम्स में अतिंम सांस ले रहे थे तो उस समय उनका बेटा यूपी का सीएम अपनी कोविड—19 के लिए बनायी गयी सुपर—11 की टीम के साथ कोरोना को लेकर बैठक कर रहे थे। बैठक के बीच में ही ऐसा समाचार आया कि मिंटिग में सन्नाटा हो गया। दो मिनट का मौन रखा गया और उस मौन के दौरान बेटे की आंख झलक गयी और बेटे की पिता के लिए उसकी भावना आखों से पानी बन निकल गये।

अपने पिता के लिए लिखी योगी की कुछ पंक्तियां…..

अपने पूज्य पिताजी के कैलाश वासी होने पर मुझे भारी दुख एवं शोक है वह मेरे पूर्व आश्रम के जन्मदाता हैं जीवन में ईमानदारी कठोर परिश्रम और निस्वार्थ भाव से लोकमंगल के लिए समर्पित भाव से काम करने का संस्कार बचपन में उन्होंने मुझे दिया अंतिम क्षणों में उनके दर्शन की हार्दिक इच्छा थी

परंतु वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के खिलाफ देश की लड़ाई को उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ जनता के हित में आगे बढ़ाने का कर्तव्य बोध के कारण में ना कर सका कल 21 अप्रैल को अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में लॉकडाउन की सफलता और महामारी कोरोना को परास्त करने की रणनीति के कारण भाग नहीं ले पा रहा हूं

पूजनीय मां पूर्व आश्रम से जुड़े सभी सदस्यों से भी अपील है कि वे लोग डाउन का पालन करते हुए कम से कम लोग अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में रहे पूज्य पिताजी की स्मृतियों को कोटि-कोटि नमन करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं लॉक डाउन के बाद दर्शनार्थ आऊंगा
योगी आदित्यनाथ

admin