निजी अस्पतालों पर उत्तराखंड के इस डी एम ने कसी नकेल

निजी अस्पतालों पर उत्तराखंड के इस डी एम ने कसी नकेल

हल्द्वानी(कमल खड़का)। निजी अस्पतालों पर नकेल कसी कसी जाती है सीखना हो तो नैनीताल के जिला अधिकारी से कोई सीखे।

निजी अस्पतालों की लापरवाही की जांच अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) की अध्यक्षता मे गठित टीम करेगी।

इन अस्पतालों पर आरोप है कि निजी अस्पतालों में गम्भीर रोगों से ग्रस्त रोगियों को बिना कोविड जांच किये हुये उपचार नही किया गया।

अस्पतालों के इस रैवये को लेकर डी एम सविन बंसल खासे नाराज दिखाई दिए।

बंसल ने इसको लेकर जांच टीम तो गठित की ही साथ ही cmo और सिटी मजिस्ट्रेट से भी ऐसे चिकित्सालयों के खिलाफ की गई कार्यवाही तलब की है।

जिलाधिकारी बंसल ने कहा कि निजी अस्पतालों के लापरवाही व संवेदनहीनता का यह बर्ताव गलत है।

इससे जनपद की स्वास्थ्य व्यवस्था की छवि को भी धूमिल किया जा रहा है।

उन्होने मुख्य चिकित्साधिकारी व नगर मजिस्ट्रेट का स्पष्टीकरण तलब किया है।

साथ ही जवाब मांगा गया है कि उन निजी चिकित्सालयों के विरूद्व आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005, उत्तराखण्ड एपेडमिक डिजीज, कोविड 19 रेगुलेशन 2020, एपेडमिक डिजीज एक्ट 1897 एवं आईपीसी की सुसंगत धाराओं के अंतर्गत क्या कार्यवाही की गई।

admin