लालकुआं(अरुण शर्मा)। जम्मू कश्मीर में उत्तराखंड का एक ओर लाल शहीद हो गया।

पेट्रोलिंग के दौरान हुए हादसे में यमुना प्रसाद शहीद हुए।

यमुना कुमाऊँ रेजिमेंट के पहले ऐसे जवान थे जिन्होंने माउंट एवरेस्ट फतह किया था ।

जवान के शहीद होने के बाद पूरे क्षेत्र में गम का माहौल है।

 

कश्मीर के कुपवाड़ा में पेट्रोलिंग के दौरान उत्तराखंड का एक लाल और शहीद हो गया

यमुना प्रसाद पनेरु कुमाऊँ रेजीमेंट की छठी बटालियन में सूबेदार थे पेट्रोलिंग के दौरान वह शहीद हो गए 39 वर्षीय पनेरु तीन भाई थे बड़ा भाई पोस्ट मास्टर है ।

छोटा भाई बन विभाग में कार्यरत है उनकी एक छोटी बहन भी है।

यमुना प्रसाद पनेरु अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए हैं उनके पत्नी सहित परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है उनके दो बच्चे हैं।

एक 7 वर्षीय लड़का और एक 3 वर्षीय छोटी बेटी है उनके सहित की खबर जैसे ही क्षेत्र में पहुंची पूरा माहौल गमगीन हो गया।

कुमाऊं रेजीमेंट के यमुना प्रसाद पनेरु पहले से जवान थे जिन्होंने माउंट एवरेस्ट फतह की थी।

वहीं शहीद होने की खबर सुनकर भीमताल विधायक राम सिंह खेड़ा उनके गोरापड़ाव स्थित आवास पर पहुंचे और दुखी परिवार को सांत्वना दी ।

उन्होंने इसे देश ही नहीं उत्तराखंड के लिए भी एक अपूरणीय क्षति बताया है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *