कोविड की मुश्किलों में लोगों की राह आसान करता यह ‘प्रयास’

कोविड की मुश्किलों में लोगों की राह आसान करता यह ‘प्रयास’

देहरादून चरन दास फुल वाले कुनज वाटिका की संचालिका रश्मी गुलाटी और उनके साथियों ने मिलकर जिस तरीके से प्रयास किया है निश्चित तौर पर तारीफ ए काबिल है.

पूरी टिम की ओर से डा गोपाल कैलाश हॉस्पिटल , डा डोभाल दून हॉस्पिटल का विशेष आभार ।

महाअभियान में जुटी पूरी टीम ने डॉ गोपाल और डॉ डोभाल का धन्यवाद करते हुए कहा कि उनके सहयोग और मार्ग दर्शन के बिना यह संभव नही था

यह भी पढ़े- अपने अगर मास्क सही से नही पहना तो पुलिस काट देगी आपका चालान

जिस किसी को जानकारी नहीं होती थी कि ऑक्सीजन सिलेंडर कहां से उपलब्ध होगा बेड कहां उपलब्ध होगा

मुझे हॉस्पिटल का क्या नंबर है कहां पर बेड खाली हैं कहां पर वेंटिलेटर खाली है किस मरीज की क्या मदद की जा सकती है

कोविड की मुश्किलों में लोगों की राह आसान करता यह 'प्रयास'जब इस तरीके के सवाल इनके साथियों के पास आते थे तो सभी साथी ग्रुप के माध्यम से उसको हल करते थे

उसका समाधान ढूंढते थे उस व्यक्ति को मदद पहुंचाने में अपना योगदान देते थे.

रश्मि गुलाटी व उनके कुछ साथी हरिद्वार से कमल अरोरा, कमल वर्मा,मधुर वासन ,

प्रवीण कपिल, देहरादून के निधि ध्यानी,निर्मल सिंह भंडारी , हरविंदर सिंह निस्वार्थ मदद को आगे आए हैं।

जितनी भी स्वयंसेवी संस्थाएं कार्य कर रही थी सेवा कर रही थी सभी से संपर्क कर जरूरतमंदों को सहयोग पहुंचाने में एक प्रयास का बहुत बड़ा योगदान रहा है.

23 अप्रैल को रश्मि गुलाटी द्वारा बनाया गया यह ग्रुप जिसको देखकर अन्य लोगों को प्रेरणा मिली उन्होंने भी ग्रुप बनाकर के मदद करना आरंभ कर दिया

एक दूसरे की रश्मि के सभी साथी बताते हैं कि समाज के हित में अगर कहीं भी हमारी आवश्यकता होगी

हम पूर्ण रूप से उस में अपना योगदान देकर समाज को बिना किसी जात पात के बिना किसी राजनीति के बिना किसी भेदभाव के बचाने का और आगे बढ़ाने में पूरा योगदान देंगे।

कोविड काल के इस मदद महाअभियान के यज्ञ में

डा डोभाल , डा गोपाल का सहयोग ,
हरिद्वार से मधुर वासन,कमल वर्मा ,प्रवीण कपिल,कमल अरोरा , सोनिया गर्ग , देहरादून के निरमल सिंह भण्ड।री , निधि ध्यानी , हरविंदर सिंह आदि की आहुतियां के रूप में रही।

admin