देहरादून(कमल खड़का)। शीतकालीन सत्र की तैयारी इन दिनों पूरे जोर पर है।

21 दिसम्बर को उत्तराखंड विधानसभा के तीन दिवसीय शीतकालीन सत्र का आयोजन किया जाना है।

प्रकाश पंत भवन में कक्ष संख्या 107 में 30 विधायकों के बैठने की व्यवस्था की गई है।

विधायकों को रैपिड एंटीजन टैस्ट होगा,पाॅजिटिव विधायक सदन में प्रवेश करने के लिये प्रतिबन्धित होंगे।

शीतकालीन सत्र की तैयारियां
शीतकालीन सत्र के लिए तैयार उत्तराखंड विधानसभा

शीतकालीन सत्र में विधायकों द्वारा अभी तक 462 प्रश्न विधान सभा को प्राप्त हो चुके हैं।

मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने विधानसभा भवन के सभा मंडप का निरीक्षण किया।

खास खबर-IMA से हाल ही में पासआउट हुए सैन्य अधिकारी का सम्मान

विधानसभा अध्यक्ष ने कोरोना संक्रमण के चलते सोशल डिस्टेंस को देखते हुए सभा मंडप में आवश्यक सभी व्यवस्थाओं का जायज़ा लिया।

अग्रवाल ने कहा है कि विधानसभा सत्र के लिए सभी तैयारियां पूर्ण की जा रही है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के प्रभाव से बचने के लिए सभी प्रकार से तैयारियां की जा रही है।

उन्होंने कहा है कि सदन में हर प्रकार से विधायक अपनी बात रख सकें ऐसी व्यवस्था सभा मंडप एवं कक्ष संख्या 107 में बनाई जा रही।

कोई भी सदस्य अपनी बात रखने से वंचित नहीं रहेंगे ।

इस अवसर पर विधानसभाध्यक्ष ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि सभी विधायकों को रैपिड एंटीजन टैस्ट होगा।

पाॅजिटिव विधायक सदन में प्रवेश करने के लिये प्रतिबन्धित होंगे।

अग्रवाल ने कहा है कि विधानसभा सत्र को सुरक्षित एवं सुचारू रूप से संचालित करने के लिए तय समय सीमा के अंतर्गत टेस्ट करवाना अत्यंत आवश्यक है ।

उन्होंने कहा है कि सभी विधायकों, माननीय मंत्री गणों की व अधिकारियों की सुरक्षा अत्यंत आवश्यक है।

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने सभी विधायकों से अपील की है कि स्वयं की एवं अन्य लोगों की सुरक्षा की दृष्टि से सभी माननीय विधायक गण एवं मंत्री गण टेस्ट अवश्य करवाएं l

उन्होंने कहा कि विधायकों से वर्चुवली जुड़ने के लिये राय मांगी गयी थी जिसमें लगभग सभी विधायक सदन में प्रतिभाग करने के पक्ष में हैं।

21 दिसम्बर से प्रारम्भ होने वाले 3 दिवसीय सत्र के दौरान कोराना संक्रमण के प्रभाव से बचने के लिये सदन में पूर्णरूप से SOP का पालन किया जायेगा।

जिसमें सभी विधायको, अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए सैनीटाइजेशन, मास्क की व्यवस्था की जायेगी साथ ही सोशल डिस्टेंस का पालन किया जायेगा।

अग्रवाल ने बताया कि सभा मण्डप में 29 विधायकों के बैठने की व्यवस्था एवं दीर्घाओं में 11 विधायकों के बैठने की व्यवस्था की गई है।

प्रकाश पंत भवन के कक्षा संख्या 107 में 30 विधायकों के बैठने की व्यवस्था की गई है, जो कि सभा मण्डप का ही पार्ट होगा।

सभा मण्डप, दीर्घाओं एवं कक्षा संख्या 107 तीनों जगहों पर लाॅबी बनायी जायेगी।

सदन के प्रथम दिन दिवंगत हुए 4 पूर्व विधायकों को श्र्द्वांजली कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा।

दिनांक 16 दिसम्बर को अपराह्न तीन बजे सत्र की व्यवस्थाओं को लेकर उच्च अधिकारियों के साथ सुरक्षा सम्बन्धित बैठक आहूत की जायेगी।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *