केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अधिकारियों को लगाई फटकार

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अधिकारियों को लगाई फटकार

हरिद्वार(कमल खड़का)। केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक शुक्रवार को अचानक हर की पौड़ी पहुंच कर अधिकारियों पर बिफर पड़े।

अपने हर की पौड़ी निरीक्षण के दौरान उन्होंने वंहा हो रहे निर्माण को लेकर नाराजगी जताई।

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक
केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक अधिकारियों पर हुए नाराज

उन्होंने तल्ख शब्दों में इसे पैसे की बरबादी बताते हुए कहा कि हर की पैड़ी को लेकर जो उनका ड्रीम प्रोजेक्ट था।

उसके अनुरूप् कार्य नही हुआ है,जिससे उन्हे गहरी निराशा हुयी है।

यह भी पढ़े-डीआईजी अरुण मोहन जोशी का ऑपरेशन थर्ड आई कि खासियत

शिक्षामंत्री डा.रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार सबेरे हर की पैड़ी तथा आस्था पथ रोड़ी बेलवाला क्षेत्र में कुम्भ 2021 को लेकर चल रहे निर्माण कार्यो का औचक निरीक्षण किया।

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक शुक्रवार को सवेरे करीब 10 बजे अचानक हर की पैड़ी पहुच गए।

यहां उन्होने इण्डियन ऑयल कम्पनी द्वारा हर की पैड़ी के सौन्दर्यकरण तथा विस्तारीकरण के लिए की गयी लगभग 55करोड़ की धनराशि जो कि उनके प्रयासों से मिली थी,से चल रहे निर्माण कार्यो का निरीक्षण किया।

लेकिन जो कार्य वहा किए जा रहे थे,उससे बेहद नाराज नजर आए।

उन्होने कहा उनका ड्रीम प्रोजेक्ट था कि हर की पैड़ी का इस प्रकार विस्तार किया जाए ताकि लगभग एक लाख श्रद्वालु विश्व प्रसिद्व गंगा आरती का दर्शन कर सके।

उन्होंने कहा इसके लिए ब्रहमकुण्ड के दोनो ओर स्टेडियम की तरह बैठने की व्यवस्था इस प्रकार की जाए कि श्रद्वालुओं को गंगा स्नान में कोई बाधा न हो सके।

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक
केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का हर की पौड़ी निरीक्षण

डा.निशंक ने कहा कार्य प्रारम्भ होने से पूर्व उन्होने कार्यदायी संस्था वेबकाम तथा हरिद्वार रूड़की विकास प्राधिकरण को इसके लिए कार्ययोजना बनाने को कहा था।

लेकिन उन्हे इस सन्दर्भ में कोई जानकारी नही दी गई और न ही मानचित्र दिखाया गया।

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मौके पर ही वेबकाॅम के निदेशक बी शर्मा से फोन पर वार्ता कर फटकार लगायी और अगामी कार्ययोजना स्पष्ट करने को लिए तलब किया।

उन्होने इस कार्य की देखरेख कर रही गंगासभा के पदाधिकारी महामंत्री तन्मय वशिष्ठ,वरिष्ठ उपाध्यक्ष जितेन्द्र विद्याकुल,आशु शर्मा से भी नाराजगी प्रकट करते हुए पूरी योजना पर पुर्नविचार करने को कहा।

उन्होने बताया वह चाहते थे कि सौउण्ड एंड लाईट के माध्यम से गंगा अवतरण व गंगा आरती तथा गंगा से सम्बन्धित आख्यानों को लाईव प्रसारण हो,जिसे देश-विदेश में देखा जा सके।

लेकिन इस दिशा में कभी कोई कार्य नही हुआ है। उन्होने शीघ्र ही सम्बन्धित कार्यदायी संस्था के अधिकारियों की बैठक बुलाए जाने के निर्देश दिए है।

डा.निशंक ने कुम्भ मेला निधि से बनाए जा रहे आस्था पथ का भी निरीक्षण किया,वहा चल रहे निर्माण कार्यो पर संतोष व्यक्त किया।

निमार्णाधीन फलाईओवर,राजमार्ग तथा अन्य निर्माण कार्यो के दिसम्बर के अंत तक पूर्ण हो जायेंगे।

इन स्थायी निर्माण कार्यो से हरिद्वार की जनता को भी लाभ मिलेगा। बड़े स्नान पर्वो पर जुटने वाली लाखों की भीड़ को भी नियंत्रित करने में सफलता मिलेगी।

निशंक का हरीश रावत पर हमला……..

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि हरीश रावत कुंभ को लेकर राजनीति कर रहे हैं,उन्हें 2010 महाकुंभ की याद नहीं।

जब वे केंद्र में मंत्री थे और बतौर मुख्यमंत्री मैं स्वयं केंद्र सरकार से लड़कर महाकुंभ के आयोजन के लिए धनराशि लाया था।

निशंक ने कहा कि कोविड के बावजूद राज्य सरकार हरिद्वार कुंभ में बेहतर कार्य कर रही है।

जिसका उदाहरण हरिद्वार में चारों ओर हो रहे निर्माण को देखकर लगाया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि इतिहास गवाह है कि पीएम मोदी ने उत्तराखंड को अभी तक सबसे ज्यादा धनराशि उपलब्ध कराई है।

admin