हरिद्वार (विकास चौहान)। कांग्रेसियों (Congressmen) द्वारा महंगाई के विरोध में किए गए धरने प्रदर्शन का जवाब देते हुए पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, भाजपा के वरिष्ठ नेता संजय चोपड़ा के संयोजन में पुरानी सब्जी मंडी चौक पर मंडी समिति के सहयोग से एक दिवसीय प्याज मेला लगा कर आम उपभोक्ताओं को थोक मंडी के भाव में फुटकर 1 किलो, 2 किलो, 5 किलो तक ₹30 प्रति दर्द के मूल्य पर प्याज मेला लगा कर प्याज उपलब्ध कराई सुबह से ही सस्ते दरों पर प्याज लेने की होड़ में आम उपभोक्ताओं ने काफी रुचि लेकर सस्ते दरों पर प्याज खरीदी। पूर्व में भी संजय चोपड़ा द्वारा कृषि उत्पादन मंडी समिति के अध्यक्ष पद पर रहते हुए समय-समय पर मंडी समिति प्रांगण में फल सब्जी मेले लगाकर आम उपभोक्ताओं को मंडी के थोक भाव में फुटकर रूप से फल सब्जी उपलब्ध कराते रहे हैं। इस अवसर पर पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, भाजपा नेता संजय चोपड़ा ने कहा प्याज मंडी के थोक भाव मे 30 रुपए से 40 रुपए तक बिक रहा है मंडी समिति के सहयोग से यह प्याज मेला लगाकर आम उपभोक्ताओं को 30 रुपए प्रति दर किलो के हिसाब से प्याज उपलब्ध कराई गई है आगे भी यदि आवयश्कता पड़ी तो अन्य फल सब्ज़ी इत्यादि रोज़मर्रा की कृषि उपज आम उपभोक्ताओं को सस्ते दरों पर कृषि मंत्री सुबोध उनियाल के निर्देशन में उपलब्ध कराई जाएंगी। पूर्व मंडी अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने यह भी कहा कि पूर्व में मंडी समिति के अध्यक्ष रहते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अति महत्वकांशी योजना ई-राष्ट्रीय कृषि बाजार को क्रियान्वित करते हुए किसानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्यों की पूर्ति के लिय कृषको की धान की उपज हरिद्वार मंडी में ऑनलाइन बेचने का शुभारंभ किया गया था। इस वर्ष भी दीपावली के अवसर पर जो किसान भाई मंडी समिति में पंजीकृत है व धान की उपज ऑनलाइन बेच कर अच्छा मुनाफा कमा सकेंगे। इस अवसर पर मंडी समिति के सहयोग से प्याज मेले में सहयोगी के रूप में राजेश खुराना ने कहा यह एक स्वस्थ प्रक्रिया है यदि आम उपभोक्ताओं को कृषको की उपज उचित दरों पर क्रियान्वित किये जाने का सिलसिला जारी रहे तो काफी हद तक आम उपभोक्ताओं को महंगाई से निजात मिल सकेगी। उन्होंने कहा पूर्व मंडी अध्यक्ष संजय चोपड़ा द्वारा समय-समय पर कई रचनात्मक कार्य किये जाते है इसीलिए प्याज मेला व अन्य फल सब्ज़ी मेले त्यौहारों की इस मौसम में निरंतर जारी रहेंगे ताकि लोग त्यौहारों पर मंडी के थोक भाव मे कृषको की उपज खरीद सके।
 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *