हरीश रावत के राजनीतिक जज्बे को सलाम-स्वास्थ्य से ज्यादा साल्ट की जीत जरूरी

हरीश रावत के राजनीतिक जज्बे को सलाम-स्वास्थ्य से ज्यादा साल्ट की जीत जरूरी

हरीश रावत के राजनीतिक जज्बे को सलाम, स्वास्थ्य की चिंता न करते पहुँचे सल्ट

सल्ट(अरुण शर्मा)। सल्ट में 17 अप्रैल को चुनाव होने है, चुनाव प्रचार के आखिरी दिन बीजेपी-कांग्रेस ने अपनी ताकत झोंक दी है।

बीजेपी की ओर से जंहा सीएम तीरथ रावत ने मौर्चा संभाला तो वही कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मौर्चा संभाला।

खास खबर-फ़िल्म 1947 बना रहा है उत्तराखंड का ये शख्स,बॉलीवुड में इसके काम की धमक

हाल ही में कोरोना को मात देकर दिल्ली एम्स से वापस लौटे हरीश रावत सल्ट में बीजेपी को पटखनी देने पहुँच गए है।

हरीश रावत के इस राजनीतिक साहस की हर कोई तरफ कर रहा है।

आपको बता दे कि हरीश रावत और उनकी पत्नी दोनों पिछले दिनों कोरोना से संक्रमित हो गए थे।

हरीश रावत के राजनीतिक जज्बे को सलामरावत की तबियत बिगड़ने के चलते हुए दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था।

जंहा से वे दो दिन पहले ही वापस लौटे है।

आज सल्ट के महासंग्राम में उन्होंने गंगा पंचोली के लिए वोट मांगे।

हरदा सल्ट विधानसभा में तीन जगहों पर चुनावी रैली करेंगे।

उधर बीजेपी की ओर से सीएम तीरथ, केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, उत्तराखंड प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम आखिरी दिन मौर्चा संभाल रहे है।

हरीश रावत एम्स से भी लगातार शोसल मीडिया के माध्यम से लोगों से अपील करते रहे थे।

ऐसे में स्वास्थ्य के पूरी तरह से सही न होने के बावजूद उनका ये साहस दूसरे नेताओं को सिख दे रहा है।

बहरहाल चुनाव का नतीजा कुछ भी हो लेकिन एक बात तो तय है कि हरीश रावत राजनीति में जल्दी से हार न मानने वाले खिलाड़ी है।

admin

One thought on “हरीश रावत के राजनीतिक जज्बे को सलाम-स्वास्थ्य से ज्यादा साल्ट की जीत जरूरी

Comments are closed.