इगास (बग्वाल) को लेकर लोगों में दिख रहा है उत्साह

गढ़वाली दीपावली इगास (बग्वाल) को लेकर है लोक मान्यता

 

देहरादून(अरुण शर्मा)। बीजेपी सांसद अनिल बलूनी ने जंहा लोगों से इगास(बग्वाल) को अपने गांव में मनाने की अपील की है।

तो वही दूसरी ओर सीएम सहित तमाम बड़े नेताओं ने इगास(बग्वाल) की बधाई दी।

यह भी पढ़े-हरिद्वार की शिक्षिका ने बढ़ाया उत्तराखंड का मान

आम आदमी पार्टी ने इगास(बग्वाल) के बहाने राज्य सरकार को घेरने का काम किया है।

उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी ने पूरे प्रदेश में इगास मनाने का एलान किया है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने दी बधाई……..

इगास(बग्वाल)
इगास(बग्वाल) सीएम संदेश

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों को इगास पर्व की बधाई एवं शुभकामनाएं दी है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों की सुख-शांति एवं समृद्धि की कामना की है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए इस अवसर पर सामाजिक दूरी, मास्क पहनने के साथ ही अन्य सावधानियों का अनुपालन करने की भी अपील की है।

विधानसभा स्पीकर की शुभकामनाएं…..

उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने दीपावली के 11 दिन बाद मनाए जाने वाले ईगास-बग्वाल पर्व की प्रदेशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी है।

अग्रवाल ने कहा है कि इगास-बग्वाल पर्व हम सभी के जीवन में नया प्रकाश लेकर आए और हमारा प्रदेश सदा सुख, समृद्धि और सौभाग्य से आलोकित रहे।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की इगास(बग्वाल)….

दीपावली के 11 दिन बाद आने वाला उत्तराखंड का लोक पर्व इगास (बग्वाल) को लेकर उत्साह दिखाई दे रहा है।

इगास (बग्वाल) को गढ़वाली दीवाली भी कहा जाता है।

इगास(बग्वाल)
इगास(बग्वाल) सतपाल महाराज संदेश

न केवल उत्तराखंड अपितु राज्य के बाहर रहने वाले लोग खासे उत्साहित दिखाई दे रहे है।

25 नवम्बर को होने वाले इस लोकपर्व पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सहित तमाम बड़े नेताओं ने बधाई दी है।

*सतपाल महाराज ने इगास(बग्वाल) गढ़वाली दीपावली पर प्रदेशवासियों को दी बधाई*

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने आज प्रदेशवासियों को इगास (बग्वाल) गढ़वाली दीपावली की शुभकामनाएं देते हुए कोविड के नियमों का पालन करने का अनुरोध किया है।

सतपाल महाराज ने कहा कि गढ़वाल क्षेत्र में दीपावली के 11 दिन बाद इगास, गढ़वाली दीपावली मनाई जाती है।

महाराज ने कहा कि भगवान राम के वनवास से अयोध्या लौटने के 11 दिन बाद उत्तराखंड में सूचना पहुंची थी।

इसलिए यहां पर 11 दिन बाद दीपावली मनाने की परंपरा है।

साथ यह भी उल्लेख मिलता है कि लगभग 400 वर्ष पूर्व वीर माधव सिंह भंडारी के नेतृत्व में गढ़वाल सेना के द्वारा दापाघाट का युद्ध जीता गया था।

युद्ध में विजय प्राप्त करने की खुशी में भी विजय पर्व के रूप में इगास मनाने की परंपरा है।

सतपाल महाराज ने समस्त प्रदेशवासियों को इगास (बगवाल) गढ़वाली दीपावली की शुभकामनाएं देते हुए आग्रह किया है।

कि सभी सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए कोविड के नियमों का पालन करें और सौहार्दपूर्ण वातावरण में इस पर्व को मनाएं।

आम आदमी की इगास (बग्वाल)….

राज्य का पारंपरिक त्योहार  ईगास,को लेकर आम आदमी पार्टी ने पूरे प्रदेश में पहाड़ों पर ईगास मनाने का निर्णय लिया है।

इगास(बग्वाल)आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष शिशुपाल रावत ने इसकी जानकारी दी।

शिशुपाल ने कहा कि पूरे प्रदेश में जब से पलायन हुआ है तब से त्योहार और यहां की परंपरा खत्म होती जा रही है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *