हरीद्वार(पंकज पाराशर)। टास्क ग्रुप टीम की देखरेख पहले दिन कॉलेजों में दिखा उत्साह।

उत्तराखंड में महाविद्यालय के खुलने का पहला दिन जिसमे छात्रों के साथ साथ शिक्षकों में भी उत्साह दिखाई दिया।

हरिद्वार के सबसे बड़े महाविद्यालय SMJN कॉलेज में भी इसको लेकर खासी तैयारी दिखाई दी।

खास खबर-उत्तराखंड के छात्रों के लिए सीएम त्रिवेंद्र ने दी बड़ी सौगात

कक्षाओं को सुचारू रूप से संचालित करने हेतु
महाविद्यालय में किया गया टास्कग्रुप का गठन किया गया।

टास्क ग्रुप टीम
टास्क ग्रुप टीम की देखरेख में पढ़ाई हुई शुरू

टास्क ग्रुप टीम में जंहा शिक्षकों व छात्रों की शामिल किया गया है।

यह टास्क ग्रुप टीम कॉलेज में सरकार द्वारा जारी SOP का उचित पालन कराने पर ध्यान देगी।

एस.एम.जे.एन.पी.जी. काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि महाविद्यालय में ऑनलाईन मोड़ में पठन पाठन कार्य आज से प्रारम्भ किया गया।

यह जानकारी देते हुए काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि निदेशक उच्च शिक्षा के आदेशानुसार महाविद्यालय में प्रत्येक संकाय से टास्क ग्रुप का गठन किया गया है।

जिसका उद्देश्य ऑफलाईन कक्षाओं के सुचारू संचालन एवं छात्र सुरक्षा का विशेष ध्यान रखने के साथ-साथ महाविद्यालय के मुख्य द्वार पर ही सैनेटाईजर, हैण्डवाश, थर्मल स्कैनिंग आदि की व्यवस्था का भी ध्यान रखना है।

प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि प्रत्येक छात्र-छात्रा के ऑफलाईन कक्षा में उपस्थित होने से पूर्व उनके अभिभावकों का सहमति/अनुमति पत्र अवश्य ले लिया जाये।

डाॅ. बत्रा ने बताया कि टास्क ग्रुप टीम में शिक्षक विनय थपलियाल, डाॅ. प्रज्ञा जोशी, डाॅ. शिवकुमार चैहान, डाॅ. मनोज कुमार सोही, डाॅ. पूर्णिमा सुन्दरयिाल, विनित सक्सेना, दिव्यांश शर्मा,

शिक्षणेत्तर कर्मचारी एम.सी. पाण्डेय, संजीत कुमार, समाजसेवी हरिद्वार नागरिक मंच के देवेन्द्र शर्मा, अधिवक्ता ललित मिगलानी,

डाॅ. नरेश चौधरी, छात्र विनय कुमार, कु. शिवानी आदि के नाम सम्मिलित हैं।

महाविद्यालय ऑफलाईन कक्षा की नोडल अधिकारी डाॅ. सुषमा नयाल ने बताया कि विज्ञान संकाय में प्रयोगात्मक लाईन कक्षा संचालन के प्रथम दिन बी.एससी प्रथम सेमेसटर के विभिन्न सत्रों में बुलाये गये छात्र-छात्राओं में से केवल 63 छात्र-छात्राओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज की।

डाॅ. नयाल ने बताया कि कोविड-19 से छात्रों की सुरक्षा के दृष्टिगत सामाजिक दूरी (दो गज) का अनुपालन किया गया।

मुख्य अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी ने कहा कि प्रथम दिवस में एक सत्र में एक-तिहाई छात्रों का ही महाविद्यालय में प्रवेश कराया गया।

जिस कारण समयसारिणी को पुनः एस.ओ.पी. के अनुसार तैयार किया गया तथा चरणबद्ध रूप से पांच बैचों में प्रयोगात्मक कक्षायें चलायी गयी।

डाॅ. माहेश्वरी ने सभी छात्र-छात्राओं का कोविड-19 की सुरक्षा के दृष्टिगत आह्वान किया कि प्रत्येक छात्र-छात्रा महाविद्यालय में मास्क लगाकर एवं आरोग्य सेतु ऐप को अपने मोबाईल में डाउनलोड कर अवश्य आयें।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *