स्थानिय कालाकारों से सजी, “राजू की दिवाली” ​शॉर्ट Film का हुआ प्रीमियर

स्थानिय कालाकारों से सजी, “राजू की दिवाली” ​शॉर्ट Film का हुआ प्रीमियर

हरिद्वार (विकास चौहान)। यूपी और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी की याद में हरिद्वार के आर के स्टूडियो ने एक शॉर्ट फिल्म (Film) बनाई है। ‘राजू की दिवाली’ नाम की इस फिल्म (Film) में हरिद्वार के कई समाजसेवियो ने अभिनय किया है। स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी द्वारा स्थापित नेहरू यूथ सेंटर में फ़िल्म (Film) को रिलीज किया गया। इस फ़िल्म (Film) की कहानी गाँव के एक गरीब लड़के राजू पर आधारित है। स्क्रीन पर दर्शाया गया है कि किस तरह से शहर जाकर राजू अपने बीमार दादा के बनाये मिट्टी के दिये अपनी दीवाली मनाता है।
इस फिल्म में गांव का है गरीब लड़का राजू है जिसके परिवार में उसके दादा और उसकी मां ही है। राजू दिवाली की छुट्टियों में अपने दादा के बनाए गए दियो को बेचने के लिए शहर जाता है। इस फिल्म में दादा का किरदार है हरिद्वार के एसएम जेएन कॉलेज के प्राचार्य डॉ सुनील बत्रा ने निभाया है। राजू के दादा बीमार रहते हुए भी मिट्टी के दीए बनाते हैं और उन्हें बेचने के लिए राजू को शहर भेज देते हैं। राजू के पास शहर जाने तक के पैसे नहीं होते किसी तरह करके राजू शहर पहुंच जाता है और अपनी मेहनत के दम पर उनको बेचता है और अपनी और अपने परिवार की दीवाली मनाता है। राजू को दिए बेचने में एक पुलिस अधिकारी की भूमिका महत्वपूर्ण है जिसका किरदार हरिद्वार के समाजसेवी डॉ विशाल गर्ग ने निभाया है। यह फिल्म एक सामाजिक रूप से विशेष रूप का संदेश देने वाली फिल्म है। जो संदेश देती है कि आज चकाचौंध की दुनिया में लोग पारंपरिक मिट्टी के दीपक को को भूलकर चीनी लड़ियों और लाइटों को बढ़ावा देने में लगे हुए हैं। फ़िल्म के उद्घाटन अवसर पर निर्देशक राहुल सैनी, डॉ विशाल गर्ग, डॉ सुनील बत्रा , नेहरू युवा केन्द्र के सचिव सुखबीर सिंह ढींढसा, फ़िल्म के लेखक एम एस नवाज, दीपंकर, आकाश त्यागी, बंटी चड्डा आदि मौजूद रहे।

admin