DPS हरिद्वार ने रच दिया इतिहास, 500 छात्रों ने कर दिखाया ये बड़ा कारनामा

DPS हरिद्वार ने रच दिया इतिहास, 500 छात्रों ने कर दिखाया ये बड़ा कारनामा

DPS हरिद्वार ने रच दिया इतिहास,अनाज का कुंभ कलश बनाया।

हरिद्वार(अरुण शर्मा)। DPS हरिद्वार ने रकह दिया इतिहास,लिम्का बुक ऑफ रेकॉर्ड में दर्ज कराया नाम।

कुंभ का यह दिन डीपीएस के लिए कई मायनों में ऐतिहासिक रहा।

यह भी पढ़े-कोरोना को हराकर पहले दिन ही फुल फार्म में दिखे सीएम तीरथ सिंह रावत,

DPS हरिद्वार के छात्र-छात्राओं ने मिलकर अनाज से कुंभ कलश का निर्माण किया।

बृहस्पति ग्रह के कुम्भ राशि में प्रविष्ट होने के अवसर पर अनाज के द्वारा कृम्भ की विशाल आकृति ने सबका मन मोह लिया।

विद्यालय के इस अद्भुत कार्य को द इण्डिया बुक ऑफ रिकार्ड ने दर्ज कर विद्यालय को गौरवांवित किया।

DPS हरिद्वार ने रच दिया इतिहास,अनाज का कुंभ कलश बनायाप्रधानाचार्य डा0 अनुपम जग्गा की प्रेरणा व निर्देशन में हुए इस भव्य आयोजन ने डीपीएस ही नही पूरे हरिद्वार को गौरव प्रदान किया है।

इस एतिहासिक पल के साक्षी बने छात्र छात्राओं के साथ पूरा डीपीएस परिवार एवं अभिभावक गण रोमांचित व उत्साहित है व विद्यालय में हर्ष का वातावरण है।

 

संध्या में जल की महत्ता को समर्पित एक विशेष सांस्कृतिक कार्यक्रम जल ही जीवन है का आयोजन किया गया।

जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि महाराज ने पधार कर समारोह की भव्यता को परिपूर्ण कर दिया।

उन्होंने विद्यार्थियों की जल एवं मां गंगा पर अधारित प्रस्तुतियों की सराहना कीी।

उन्होंने कहा कि जल ही जीवन है कि महत्ता पर अपने अमूल्य वचन प्रदान किए तथा अपने आशीर्वचनों से सभी को कृतार्थ किया।

उन्होंने अपने कर कमलों से इण्डिया बुक आॅफ रिकार्ड द्वारा जारी प्रमाण पत्र एवं ट्राफी प्रधानाचार्य डा0 अनुपम जग्गा को प्रदान करते हुए उनके इस अद्भुत प्रयास के लिए उन्हें बधाई देते हुए शुभकामनाएं प्रदान की।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथियों के रूप में मेला एसएसपी जन्मेजय खंडुरी,

विधायक सुरेश राठोर, शिवालिक नगर पलिका के चेयरमैन राजीव शर्मा डीपीएस के प्रोवाईस चेयरमैन के0 बी0 बत्रा ,कुंभ एसपी सुरजीत सिंह पंवार

श्रीगंगा सभा के महामंत्री तन्मय वशिष्ठ, वरिष्ठ स्वागत मंत्री सिद्धार्थ चक्रपाणि,

भाजपा नेता मुकेश कौशिक सहित अनेको गणमान्य अतिथि उपस्थित रहे।

admin

One thought on “DPS हरिद्वार ने रच दिया इतिहास, 500 छात्रों ने कर दिखाया ये बड़ा कारनामा

Comments are closed.