डीएम हो तो ऐसा-गरीब छात्रा की कुछ इस तरह की मदद कि बन गयी एक अलग मिसाल

डीएम हो तो ऐसा-गरीब छात्रा की कुछ इस तरह की मदद कि बन गयी एक अलग मिसाल

नैनीताल(पंकज पराशर)। उत्तराखंड के इन जिलाधिकारी की अदा और काम करने के तरीकों के सब कायल हैं।

अपनी कार्यशैली के लिए खासे चर्चित रहने वाले नैनीताल के डी एम सविन बंसल ने एक बार फिर सबका दिल जीत लिया।

उन्होने एक गरीब, होनहार छात्रा की कॉलेज की फीस भरने में मदद की। दरअसल कुछ दिन पहले सोशल मिडिया में छात्रा नें डीएम से मदद की गुहार लगायी थी।

डीएम सविन बंसल ने जानकारी जुटाकर छात्रा के अकांंउट में 60 हजार रुपये डाल दिये।

जिसके बाद डीएम सविन बंसल ने लड़की की पूरी जानकारी निकलवा कर उसके अकांउट में फीस के पैसें जमा करवा दिये।

मामला कोटाबाग की गरीब छात्रा कनिका जोशी का हैं। कनिका पिथौरागढ़ के इंजीनियरिंग काॅलेज में कंप्यूटर साईस अन्तिम वर्ष करी छात्रा है।

कोटाबाग की कनिका जोशी के परिवार की स्थिति कोरोना माहमारी की वजह से काफी मुश्किलों में आ गयी थी।

4 भाई बहनों में सबसे बड़ी कनिका की शिक्षा के लिए उसके पिताजी ने बैंक से लोन लिया था।

परन्तु आर्थिक समस्या के कारण समय से अपनी फीस जमा नही कर पा रही थीं।

हर तरफ से जब कनिका हार गई तब उसने ने सोशल मीडिया में जिलाधिकारी से मदद के लिए गुहार लगाई।

डी एम को जैसे ही पता चला,उन्होंने कनिका के बारे में पता करवाया। यहीं नहीं उन्होने बिना देर किये आवश्यक धनराशि का पता लगवाकर कनिका के खाते में 59716 रुपये डाल दिये।

जो अपनी फीस नही भर प रा रही थी। कनिका ने जिलाधिकारी श्री सविन बंसल से सोशल मीडिया के माध्यम से मदद की गुहार की थी।

जिस पर बच्चियों की शिक्षा के प्रति संजीदा जिलाधिकारी बसंल ने गत सोमवार को कनिका खाते में रू0 59716 की धनराशि काॅलेज फीस हेतु जमा कराई।

कनिका ने जिलाधिकारी बंसल कोे अपना आदर्श बताते हुवे इंजीनियरिंग की पढ़ाई की रुकावट को दूर करने हेतु बहुत बहुत धन्यवाद दिया तथा अपने जीवन में गरीब विद्यार्थियों की मदद करने का भी आश्वासन भी दिया है।

admin