हरिद्वार कुंभ में उदासीन अखाड़े की धर्मध्वजा से की कुंभ की शुरुवात

हरिद्वार कुंभ में उदासीन अखाड़े की धर्मध्वजा से की कुंभ की शुरुवात

हरिद्वार कुंभ में उदासीन अखाड़े की धर्मध्वजा से की कुंभ की शुरुवात

हरिद्वार(कमल खड़का)। धर्मनगरी हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ की शुरुआत 01 अप्रैल से हो गई है।

वैसे अगर धार्मिक दृष्टि से माना जाए तो कुम्भ की शुरुआत अखाड़ो में धर्मध्वजा की स्थापना से होती है।

खास खबर-सीएम तीरथ ने बदल दिया त्रिवेंद्र का ये बड़ा फैसला, पैदल हो गए सैकड़ो बीजेपी नेता

जहाँ मार्च के महीने में सन्यासी अखाड़ो की धर्मध्वजा स्थापित हो चुकी है तो वहीं आज बैरागी अखाड़ो के तीनों अणियों की धर्मध्वजा स्थापित हुई।

जिसके बाद आज से बैरागी संतो के कुम्भ को लेकर सभी धार्मिक अनुष्ठान प्रारम्भ हो जाएंगे।

हरिद्वार कुंभ में उदासीन अखाड़े की धर्मध्वजा से की कुंभ की शुरुवातशुक्रवार को कनखल स्थित बैरागी कैंप में तीनों बैरागी अखाड़ों की धर्मध्वजा स्थापित की गई।

इस अवसर पर सभी 13 अखाड़ो के प्रतिनिधियों सहित कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत, आईजी कुम्भ संजय गुंज्याल भी मौजूद रहे।

इस अवसर पर अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा कि आज तीनों बैरागी अखाड़े निर्वाणी, निर्मोही अणि और दिगंबर अखाड़े की ध्वजा स्थापित की गई है

जिसके साथ ही अखाड़ो में कुंभ की शुरुआत भी हो गई है।

आज से धर्मध्वजा के नीचे अखाड़ों की सभी गतिविधियां प्रारम्भ होंगी।

वहीं निर्मोही अखाड़े के श्री महंत राजेंद्र दास ने बताया कि आज से धर्मध्वजा के नीचे ही सभी धार्मिक कार्य किए जाएंगे।

विधिवत तौर से आज से ही निर्मोही अखाड़े के कुंभ की शुरुआत हुई है, हमारे सभी साधु-महात्मा हरिद्वार पहुंच गए हैं।

हमारे इष्ट देव हनुमानजी हैं इसलिए हमने धर्मध्वजा में हनुमान जी को आराध्य मानकर स्थापना की है।

admin

One thought on “हरिद्वार कुंभ में उदासीन अखाड़े की धर्मध्वजा से की कुंभ की शुरुवात

Comments are closed.