Chardham छड़ी का हरकी पौड़ी पर संतो का पूजन,मुख्यमंत्री कर करेगें रवाना

Chardham छड़ी का हरकी पौड़ी पर संतो का पूजन,मुख्यमंत्री कर करेगें रवाना

हरिद्वार (विकास चौहान)। उत्तराखंड में 70 वर्षों से बंद पड़ी चार धाम(Chardham) छड़ी यात्रा अब फिर से शुरू हो रही है। आज हरिद्वार की हरकी पैड़ी पर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और महामंत्री के साथ ही तमाम साधु-संतों के गंगा मां और छड़ी की विधि विधान के साथ पूजन किया। जहां से हरिद्वार के विभिन्न आश्रमों—अखाड़ों में होती हुई यह छड़ी यात्रा माया देवी प्रागण में विश्राम करेगें जहां से शनिवार को मुख्यमंत्री चारधाम (Chardham) के लिए छड़ी को रवाना करेंगें। हरिद्वार से रवाना होगें के बाद पहले दिन यह छड़ी यात्रा हरिद्वार से प्रारम्भ होकर ऋषिकेश में रात्री विश्राम करेगी और कल वहा से देहरादून मसूरी के लिए प्रस्थान करेगी।

शुक्रवार को अखाड़ा परिषद की ओर से हरकी पौड़ी पर गंगा पूजन कर छड़ी को पूजा गया जहां से हरिद्वार के विभिन्न आश्रम—अखाड़ों से होते हुए यह छड़ी माया देवी मन्दिर प्रागण में विश्राम करेगी। जहां से छड़ी यात्रा को शनिवार 12 अक्टूबर को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत चारधार के लिए रवाना करेगें। आज गंगा पूजन के बाद छड़ी सबसे पहले हरिद्वार के ही जयराम आश्रम में पहुंची। जहां जयराम आश्रम के परामध्यक्ष ब्रहमस्वरूप ब्रहमचारी ने छड़ी का जोर दार स्वागत किया। ​स्वागत समारोह के बाद यह छड़ी हरिद्वार के दक्षप्रजापति मन्दिर एवम् अन्य आश्रम—अखाड़ों से होती हुई माया देवी मन्दिर विश्राम करेगी।
कल शनिवार को मायादेवी मन्दिर से इस छड़ी यात्रा को विधिवत रूप से चार धाम यात्रा के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत रवाना करेंगे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत कल सुबह 10:30 बजे हरिद्वार पहुंचेंगे और माया देवी के प्रांगण से इस छड़ी को चार धाम यात्रा के लिए रवाना करेंगे। यह छड़ी यात्रा विगत 70 वर्षों से बंद पड़ी हुई थी उससे पूर्व यह बागेश्वर से चार धाम यात्रा के लिए रवाना हुआ करती थी छड़ी पूजा के यहां संपन्न होने के बाद अब छड़ी यात्रा का शुभारंभ कल मुख्यमंत्री के कर कमलों द्वारा होगा और यह छड़ी 5 नवम्बर को लौट कर वापस आएगी।

admin