राम मंदिर निर्माण पर कांग्रेस के दो नेता हुए आमने-सामने,कसे तंज

राम मंदिर निर्माण पर कांग्रेस के दो नेता हुए आमने-सामने,कसे तंज

देहरादून(अरुण शर्मा)। राम मंदिर निर्माण के बयान को लेकर ह​रीश रावत और इंदिरा ह्रदयेश एक बार फिर आमने-सामने नजर आये। इधर हरदा ने सत्ता में आने के बाद राम मंदिर बनाये जाने का बयान क्या दिया कि नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश ने हरदा के इस बयान पर आड़े हाथ ले​ते हुए अपनी ही पार्टी पर भी तंज कसे।

संबधित खबर—राज्य सरकार के खिलाफ हरदा का अभियोजन पत्र,मार्च से ऐसे होगी सरकार की घेराबंदी

इंदिरा ने कहा कि केंद्र में दो बार कांग्रेस की सरकार रही है तो क्यों नहीं मंदिर बना। इंदिरा पार्टी के आगामी आक्रोश यात्रा को लेकर पत्रकारों से बात कर रही थी

खास खबर—बच्चों की कहासुनी में पड़ोसीयों के बीच मारपीट फूटे सिर

कांग्रेस के भीतर चल रही आपसी कलह का यह आलम है कि पार्टी के नेता अपने नेताओं के दिये गये बयान पर उन्हे ही घेरने से बाज नहीं आ रहे हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राम मंदिर को लेकर बयान दिया था कि कांग्रेस की सरकार जब आयेगी तब ही राम मंदिर बनेगा। जिसके बाद सियासी हलको में हलचल बाद में शुरु होती उससे पहले उनकी ही पार्टी के अंदर खलबली मच गयी और शायद यही वजह थी कि उनके इस बयान पर नेता प्रतिपक्ष ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस की इससे पहले दो बार केंद्र में सरकार रही है तब मंदिर का निर्माण क्यों नहीं हुआ। इंदिरा ने राम मंदिर बनाने के लिए सभी लोग का समर्थन होने की बात कहते हुए कहा आज सभी लोग

कांग्रेस की आक्रोश यात्रा

नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 21 जनवरी से जन आक्रोश यात्रा शुरू होगी। आचार संहिता लागू होने से पहले देहरादून में यात्रा का समापन होगा। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के नेतृत्व में यह यात्रा प्रदेशभर में होगी। गढ़वाल में टिहरी और कुमाऊं में खटीमा से यात्रा का शुभारंभ होगा।

admin