हरिद्वार (कमल खडका )। यू तो हरिद्वार में नमामि गंगे (Namami Gange) के तहत हरिद्वार के 73 गंगा घाटों पर 24 घण्टे में तीन शिफ्टों में सफाई का कार्य किया जाता है लेकिन ह​रकी पौडी और उसके नजदीक के घाटों पर लगे कूडे के ढेरों को देखकर तो ऐसे कतई नहीं लगता की यहां किसी प्रकार की कोई सफाई व्यवस्था है। प्रधानमंत्री खुद देश में सफाई को लेकर एक मुहिम छेड़े हुए है परन्तु हरिद्वार नगर निगम और या प्रदेश सरकार की पहल पर नमामि गंगे (Namami Gange) को सफाई का ठेका पाने वाली संस्थाए हरिद्वार में सफाई के प्रति निंरकुश ही दिखायी दे रही है।

खास खबर:— Police और Excise की संयुक्त कार्यवाही में दो शराब तस्कर गिरफ्तार

आपको बताते चले कि कहने को तो नगर पालिका का सफाई का कार्य हलका करने के उद्देश्य से गंगा घाटों की सफाई व्यवस्था नमामि गंगे के माध्यम से करायी जा रही है जिसके लिए अच्छा खासा पैसा भी खर्च किया जा रहा है और 73 गंगा घाटों की सफाई 24 घण्टे तीन पारियों की लगातार की जानी है। परन्तु इस सब के बावजूद हरकी पौड़ी व उसके नजदीक सुभाषघाट, नाईसोता घाट एव अन्य घाटों पर लगी गंदगी के डेर। सभी प्रयासों को मुंह चिढाते नजर आ रहें है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *