मेलाधिकारी दीपक रावत
 

मेलाधिकारी दीपक रावत दलबल के साथ पहुंचे जूना अखाड़ा,

हरिद्वार(कमल खड़का)। मेलाधिकारी दीपक रावत ने अखाड़ों में जाकर तैयारियों का जायजा लिया।

मेलाधिकारी दीपक रावत ने जूना अखाड़े मे जारी निर्माण कार्यो का किया निरीक्षण,धर्मध्वाजा सहित व्यवस्था के दिए निर्देश भी दिए।

मेलाधिकारी दीपक रावत
मेलाधिकारी दीपक रावत

कुम्भ मेला 2021 की तैयारियों को लेकर कुम्भ मेला प्रशासन ने भी अपनी गतिविधियाॅ तेज कर दी है।

पढ़े-हरिद्वार कुम्भ में NSG की तैनाती को लेकर क्या है प्लान

मेलाधिकारी दीपक रावत,अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह अपने सहयोगी अधिकारियों की टीम के साथ लगातार अखाडों में जाकर वहा चल रहे निर्माण कार्यो का निरीक्षण कर रहे है।

शनिवार को मेलाधिकारी दीपक रावत तथा अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह दल बल सहित जूना अखाड़ा पहुचे।

जहां जूना अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक व अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री श्रीमहंत हरिगिरि अखाड़े की कुम्भ की गतिविधियों को लेकर विस्ततर से बताया।

अखाड़े परिसर में स्थापित होने वाली जूना अखाड़ा,आहवान अखाड़ा तथा अग्नि अखाड़ा की धर्मध्वजाओं का स्थल,चरणपादुका व छावनियों में पेयजल,विद्युत,तथा अन्य सुविधाओं की व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से बताया।

राम लीला मैदान में सन्यासियों हेतु बनाए जाने वाले माईबाडे का स्थान दिखाते हुए यहां पर समुचित व्यवस्थाएं तथा सुरक्षा की विशेष व्यवस्थाएं किए जाने के लिए कहा।

बताते चले जूना अखाड़े के परिसर में जूना अखाड़े के साथ साथ आवहान तथा अग्नि अखाड़े के नागा सन्यासियों की छावनी बनती है।

इनके अतिरिक्त अलख दरबार व माईबाड़े की छावनी अलग से बनायी जाती है।

टैंटो तथा टीनशेड में बनायी जाने वाली छावनियों में हजारों नागा साधु तथा सन्यासिनी मेला अवधि में निवास करती है।

मेलाधिकारी दीपक रावत ने सभी छावनी स्थलों का बारीकि से निरीक्षण कर सभी व्यवस्थाएं समय रहते पूरी किए जाने का आश्वासन दिया।

उन्होंने कहा कि शीघ्र ही समतलीकरण का कार्य शुरू कर दिया जायेगा तथा अखाड़ा परिसर में विद्युत पोल लगाने

पेयजल लाईन,सीवर लाईन,अस्थायी शौचालय,सड़को का निर्माण इसी सप्ताह शुरू कर दिया जाये।

उन्होने कहा अखाड़ो के पेशवाई मार्ग नगर प्रवेश मार्ग अखाड़ो तक पहुचने के मुख्य मार्गो को भी समय से पूर्व व्यवस्थित कर दिया जाएगा।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *