धर्म-कर्म और अनुष्ठानों का महापर्व है महाकुंभ-शंकराचार्य

धर्म-कर्म और अनुष्ठानों का महापर्व है महाकुंभ-शंकराचार्य

धर्म-कर्म और अनुष्ठानों का महापर्व है महाकुंभ-शंकराचार्य

हरिद्वार(कमल खड़का)। धर्मनगरी हरिद्वार में इन दिनों महाकुंभ का पर्व चल रहा है और महाकुंभ पर्व धर्म-कर्म और अनुष्ठानों के लिए जाना जाता है।

इस दौरान कई संस्थाएं जनहित के कार्य भी करती हैं जिसमें श्रद्धालुओं के लिए मेडिकल कैंप भी लगाए जाते हैं।

खास खबर-कोरोना का विकराल रूप, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन,पढ़े प्रतिबंध और छूट

कुंभ मेले में अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करते हुए बैरागी कैंप में दो दिवसीय निःशुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर का शुभारम्भ

आद्य शंकराचार्य धर्मोत्थान संसद एवं महावीर सेवा समिति के संयुक्त तत्वावधान में पुरी शंकराचार्य स्वामी अधोक्षजानंद देव तीर्थ ने वैदिक मन्त्रोंचार से किया।

धर्म-कर्म और अनुष्ठानों का महापर्व है महाकुंभ-शंकराचार्यदो दिवसीय निःशुल्क नेत्र परीक्षण एवं चश्मा वितरण शिविर का शुभारम्भ पुरी शंकराचार्य स्वामी अधोक्षजानंद देव तीर्थ महाराज ने किया।

यह शिविर महावीर सेवा समिति कोलकाता,आभा बागरोदिया चैरिटेबल ट्रस्ट एवं आद्य शंकराचार्य धर्मोत्थान संसद के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया जा रहा है।

इस अवसर पर शिविर क़ो वैदिक मन्त्रोंचार से शुरू किया अपने संबिधान में पुरी शंकराचार्य स्वामी अधोक्षजानंद देव तीर्थ महाराज ने कहा की संतों का जीवन समाज के कल्याण के लिए समर्पित होता है।

संत समाज क़ो दिशा देते हैं ओर आरोग्य प्रदान करते हैं। उन्होंने सभी से अपील की कि इस शिविर का लाभ लें जिसमे मौके पर ही नेत्र जांच कर निःशुल्क चश्मा दिया जायेगा।

इस अवसर पर सीओ अखाड़ा प्रबोध घिल्डियाल, सेक्टर मजिस्ट्रेट सचिन योगीराज,अजय ब्राह्मण्डगुरु,

निर्मोही अनी अखाड़ा के महंत राजेंद्र दास जिनकी अध्यक्षता में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ उपस्थित रहे।

admin

One thought on “धर्म-कर्म और अनुष्ठानों का महापर्व है महाकुंभ-शंकराचार्य

Comments are closed.