हरिद्वार। उम्मीद जताई जा रही है कि अयोध्या में राम(Ram) मंदिर निर्माण को लेकर इसी महीने कोर्ट का फैसला आज आएगा। कोर्ट के फैसले का इंतजार इस देश के नागरिकों के साथ साथ तमाम साधु-संतों को भी है। साधु-संतों को उम्मीद है कि अयोध्या में भगवान राम(Ram) का मंदिर बनेगा और कोर्ट का निर्णय भी हिंदुओ के पक्ष में होगा। हरिद्वार में भूमा पीठाधीश्वर अच्युतानंद महाराज ने राम (Ram) मंदिर को लेकर मुस्लिमों के ऊपर बड़ा कटाक्ष किया है, उन्होंने कहा है कि अभी भी समय है इस देश के मुसलमान सरयू नदी का जल लेकर भगवान श्रीराम को अर्पित करें और मंदिर का विरोध करना छोड़ दे।
हरिद्वार स्थित अपने आश्रम में दिए अपने बयान में अच्युतानंद महाराज ने कहा कि भारत देश में भगवान राम का मंदिर नहीं बनेगा तो कहाँ बनेगा। यह मुसलमानों का विषय नहीं है अभी भी समय है इस देश में जितने भी मुसलमान मौलवी, इमाम,मौलाना है उन सभी को सरयू नदी का जल लेकर भगवान श्री राम के चरणों में अर्पित करना चाहिए। मुसलमान है जो उन्हें इबादत करनी चाहिए भगवान राम के मंदिर से उन्हें कोई लेना देना नहीं है। मुसलमानों का काम है वो मस्जिदों में इबादत करे, यदि उन्हें किसी मस्जिद के लिए चंदा चाहिए तो भारत का संत समाज उन्हें चंदा देने के लिए तैयार है लेकिन मंदिर का राग अलापना छोड़ दे। कहा कि यदि कोई मुसलमान इस देश में भगवान श्री राम के मंदिर का विरोध करेगा तो उसे इस देश में रहने का कोई अधिकार नहीं है। मुसलमान जल तो सरयू गँगा, यमुना, कावेरी, गोदावरी नदियों का पीते है तो भगवान राम के मंदिर का विरोध क्यों करते है। मुसलमान मस्जिदों में सजदा करें तो भी मातृभूमि के लिए करें।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *