हरिद्वार कुंभ को लेकर अभी संशय बरकरार,पीएम मोदी ने की अपील

हरिद्वार कुंभ को लेकर अभी संशय बरकरार,पीएम मोदी ने की अपील

हरिद्वार कुंभ को लेकर अभी संशय बरकरार,पीएम मोदी ने की अपील

हरिद्वार(कमल खड़का)। हरिद्वार कुंभ के मुख्य शाही स्नान समाप्त होने के बाद कुंभ को समाप्त किये जाने की आवाज बुंलन्द होती ज रही है।

कुछ अखाड़ो के कुंभ समाप्ती की घोषणा के बीच कुछ संतो ने इसका विरोध किया है।

खास खबर-14 अप्रैल के शाही स्नान के बाद संतों के बीच कोरोना विस्फोट, संत हो रहे संक्रमित

ऐसे में पीएम मोदी के एक ट्वीट ने कुंभ को प्रतीकत्मक रूप देने की ओर इशारा कर दिया है।

PM Narendra Modi ने ट्वीट कर haridwar kumbh को प्रतीकात्मक किये जाने का अनुरोध किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संत समाज से महाकुंभ को प्रतीकात्मक रखने की अपील की है।

जिससे कोरोना महामारी के खिलाफ मजबूती से लड़ाई लड़ी जा सके।

पीएम मोदी की इस अपील का जूना अखाड़ा के संतों ने स्वागत किया है।

साथ ही उनकी अपील का समर्थन करते हुए महाकुंभ को अब प्रतीकात्मक रखने की बात कही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से महाकुंभ को प्रतीकात्मक रूप से मनाने की अपील का साधु-संतों ने स्वागत किया है।

बता दें कि स्वामी अवधेशानंद गिरी ने महाकुंभ के स्वरूप को लेकर पीएम मोदी को ट्वीट किया था।

आचार्य महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी अवधेशानंद गिरी से आज फोन पर बात की सभी संतों के स्वास्थ्य का हाल जाना. सभी संतगण प्रशासन को हर प्रकार का सहयोग कर रहे हैं।

हरिद्वार में चल रहे महाकुंभ में साधु-संत और श्रद्धालु समेत पुलिसकर्मी बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित हो रहे हैं।

निरंजनी और आनंद अखाड़े ने महाकुंभ के समापन की घोषणा भी कर दी थी।

कुंभ समापन की घोषणा के बाद बैरागी संत नाराज हो गए थे।

बैरागी संतों के तीन अखाड़े निर्मोही, निर्वाणी और दिगम्बर अखाड़े के संतों ने साफ कर दिया है कि उनका मेला 30 अप्रैल तक जारी रहेगा,बैरागी संत 27 अप्रैल को बड़ी संख्या में शाही स्नान करेंगे।

admin