करवाचौथ को लेकर बाजार में मंगलवार और बुधवार को खासी भीड़ रही।

ज्वेलरी, कपड़े, आर्टिफिशियल और व्रत के सामान की दुकानों पर खरीददारी करने वाली महिलाओं की खूब भीड़ नजर आई।

मंगलवार को त्योहार की पूर्व संध्या पर सभी प्रमुख बाजारों में खूब रौनक नजर आई।

दिनभर महिलाओं ने करवाचौथ की खरीददारी की, ग्राहकों के उत्साह ने व्यापारियों के चेहरों पर चमक लौटा दी।

करवाचौथ के लिए खूब खरीददारी हुई, सुहाग की निशानी मंगलसूत्र, बिछुए, मांग टीका, पाजेब और लांग की बिक्री खूब हुई ।

अपने सजना के लिए तैयार हुई सोनी ने बताया की आज के दिन पति परमेश्वर होता है उनकी लम्बी आयु लिए व्रत रखा है।

परंपरा करवाचौथ की…..

-महिलाएं चांद को देखकर अर्घ्य देकर व पूजन करके ही अपना व्रत जो खोलती हैं।

यही कारण है कि दिनभर के व्रत के बाद जैसे-जैसे पूजन का समय नजदीक आता है।

वैसे-वैसे चांद निकलने का इंतजार बड़ी बेसब्री से किया जाता है।

प्रेम के महत्व वाला ये त्यौहार दिन भर महिलाएं निर्जल व्रत रखती है।

शाम को चांद निकलने के साथ ही अपना व्रत खोलती है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *