भारत माता मंदिर ब्रह्मलीन स्वामी सत्यमित्रानंद की समाधि पर बनने वाले समाधि मंदिर का शिलान्यास।

बाबा रामदेव सहित तमाम बड़े बड़े संत हुए शामिल।

हरिद्वार(कमल खड़का)। भारत माता मंदिर ब्रह्मलीन स्वामी सत्यमित्रानंद  की समाधि पर बनेगा समाधि मंदिर।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इसका शिलान्यास किया और सद्गुरु देव स्मृति भवन का भी लोकार्पण किया।

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ब्रह्मलीन संत सत्यमित्रानंद महाराज को महान संत बताया और कहा कि सनातन धर्म मे शंकराचार्य सबसे बड़ा पद होता है। उन्होंने माँ गँगा के लिए इस पद को भी छोड़ दिया।

यह भी पढ़े-उत्तराखंड के नए डीजीपी अशोक कुमार का पुलिस को लेकर क्या है प्लान?

त्रिवेन्द्र ने कहा कि  स्वामी सत्यमित्रानन्द गिरि महाराज प्रेरणादायी व्यक्तित्व के धनी थे।

भारत माता मंदिर
भारत माता मंदिर

उन्होंने भारत माता ट्रस्ट मन्दिर की स्थापना की। वह एक बहुत बड़े सन्त थे।

उनको शंकराचार्य की उपाधि मिली और उन्होंने उसका परित्याग किया और जो धर्मदण्ड है, उसे उन्होंने मां गंगा को समर्पित किया।

आज उनकी याद में स्मृति मन्दिर का शिलान्यास किया गया है, जो युगों-युगों तक हमारे आने वाली पीढ़ी को प्रेरणा देगा।

वही योगगुरु बाबा रामदेव ने भी सत्यमित्रानंद महाराज को युगपुरुष बताते कहा कि महाराज ने आधी से ज्यादा दुनिया मे योग, अध्यात्म और भारतीय संस्कृति परचम लहराया।

20 साल पहले जब वो हरिद्वार आये थे तो उन्हें सत्यमित्रानंद महाराज का ही सानिध्य प्राप्त हुआ था।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *