भगवान बद्रीविशाल में पूजा अर्चना का समय हुआ तय, मंदिर में इस समय होगी आरती

भगवान बद्रीविशाल में पूजा अर्चना का समय हुआ तय, मंदिर में इस समय होगी आरती

देहरादून( अरुण शर्मा)। उत्तराखंड चारधाम यात्रा 2020 शुक्रवार को श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के बाद पी एम मोदी के नाम से पहली पूजा की गई। इसके साथ ही अब बद्रीविशाल के मंदिर का समय भी तय कर दिया गया है।

16 मई यानी शनिवार से प्रात:साढे चार बजे मंदिर खुलेगा तथा साढ़े पांच बजे से अभिषेक पूजा शुरू होगी।

इसके पश्चात बाल भोग लगेगा। भगवान बदरीविशाल के ऋंगार दर्शन होंगे। दिन में साढ़े ग्यारह बजे राजभोग लगेगा। दोपहर 1 बजे मंदिर बंद होगा फिर तीन बजे खुलेगा। साढे पांच बजे से सांयकालीन आरतियां होगी शांयकालीन भोग के बाद शाय 7.30 बजे रात्रि हेतु मंदिर बंद हो जायेगा। इसी तरह प्रत्येक दिन
श्री बदरीनाथ धाम में पूजा-अर्चना का कार्यक्रम निर्धारित रहेगा।

श्री बदरीनाथ धाम के कपाट आज प्रात: 4 बजकर 30 मिनट पर ब्रह्म मुहूर्त में खुल गये। कपाट खुलने के बाद वैदिक ऋचाओं की ध्वनियों से बदरीपुरी गुंजायमान रही।

कोरोना महामारी के कारण अभी चारधाम यात्रा शुरू नहीं हुई है कपाट खुलने की प्रक्रिया से जुड़े कुछ लोगों की उपस्थिति में मंदिरों के कपाट खोले गये है।

श्री बदरीनाथ धाम में कपाट खुलने के पश्चात भगवान बदरीविशाल कुछ समय निर्वाण दर्शन होते है। तत्पश्चात रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ने भगवान बदरीविशाल की अभिषेक श्रृंगार पूजा प्रारंभ की।
प्रथम अभिषेक पूजा देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की तरफ से स़पन्न हुई। दिन में 11.45 बजे से अभिषेक पूजा शुरू हुई।

मुख्य मंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने संदेश में भगवान बदरीविशाल के कपाट खुलने के अवसर शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने श्रद्धालुजनों से घर में रहकर पूजा अर्चना को कहा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी कोरोना संकट का समय है सभी लोग घरों में रहें। तथा सोशियल डिस्टेसिंग को अपनाएं। महामारी टलने के पश्चात चारधाम यात्रा शुरू होने की भी उम्मीद जताई।

admin