पहली बार बिना भक्तो के खुले बाबा केदार के कपाट, जानिए क्या कुछ खास रहा इस बार

पहली बार बिना भक्तो के खुले बाबा केदार के कपाट, जानिए क्या कुछ खास रहा इस बार

रुद्रप्रयाग(अरुण शर्मा)। ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग बाबा केदारनाथ मंदिर के खुले कपाट

मुख्य पुजारी शिव शंकर लिंग और चंद तीर्थ पुरोहितों की मौजूदगी में में सामाजिक दूरी बनाते हुए खुले कपाट

सुबह चार बजे से ही हो गई थी केदारनाथ मंदिर के कपाटखुलने की प्रक्रिया

6 :10 बजे मेष लग्न में वैदिक मंत्रोंचार और विधि विधान से खुले कपाट

10 क्विंटल फूलों से सजाया गया है बाबा केदारनाथ मंदिर

कोरोनाी महामारी के चलते पहली बार बिना भक्तों के खुले कपाट
कपाट खुलने के पश्चात प्रथम पूजा देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से संपन्न की गयी।

* मंदिर को ऋषिकेश के दानीदाता के सहयोग से भब्य रूप से 10 क्विंटल फूलों से सजाया गया था।

कोरोना महामारी से बचाव को देखते हुए शोसियल डिस्टेंस का ध्यान रखा गया।

चार धामों में अभी सरकारी एडवाइजरी के तहत यात्रा पर रोक है। अभी केवल कपाट खोले गये है ताकि रावल/ पुजारी अपने स्तर पर नित्य पूजायें संपन्न करा सके।

निर्धारित तिथियों पर खुल रहे हैं कपाट।

29 अप्रैल । ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग श्री केदारनाथ भगवान के कपाट इस यात्रा वर्ष में मेष लग्न, पुनर्वसु नक्षत्र में आज प्रातः 6 बजकर 10 मिनट पर विधि-विधान पूर्वक खुल गये हैं।

admin