देहरादून(महावीर नेगी)। हरिद्वार कुंभ में आने वालों के लिए सीमा पर कोरोना टेस्ट कराए जा रहे है।

जिससे लगातार बढ़ रहे कोरोना के संक्रमण से हरिद्वार कुंभ को बचाया जा सके।

लेकिन देहरादून से हरिद्वार आने वालों के साथ कोरोना टेस्ट के नाम पर मजाक किया जा रहा है।

नेपाली फार्म पर देहरादून से आने वाली गाड़ियों को रोक कर उनपर सवार केवल उन यात्रियों का टेस्ट किया जा रहा है जो हरिद्वार जा रहे है।

यही नही उस पर टेस्ट करने वाले लोग न तो कोरोना संक्रमण से बचने के सभी नियम खुद फॉलो नही कर रहे है।

नेपाली फार्म पर कोरोना टेस्ट बना मजाक

नेपाली फार्म पर कोरोना टेस्ट के लिए दलबल के साथ स्वास्थ्य विभाग मुस्तैद है।

लेकिन अब उनकी मुस्तैदी की एक बानगी देखिए रोडवेज़ की बस को रोक कर कुछ पुलिस वाले बस में आते है।

पुलिसकर्मी बस में हरिद्वार जाने वाले लोगों का कोरोना टेस्ट कराने का निर्देश देते है।

जिपर कुछ लोग उत्तर कर टेस्ट को जाते है बाकी जो लोग बस में है उनका नाम और मोबाइल नम्बर नोट करने को एक व्यक्ति आता है।

जो न तो मास्क पहने है और न ही दूसरा कोई ऐसा साधन, एक व्यक्ति उस आदमी से सवाल करता है कि ये सब की लिए लेकिन जवाब कोई नही मिलता।

कोरोना टेस्ट का तरीका

अब हाल उस शिविर का जंहा टेस्ट हो रहे है, टेस्ट के लिए व्यक्ति को प्लास्टिक की चेयर पर बैठा कर उसका नाक से सैम्पल लिया जाता है।

अगले 30 सेकेंड में उसके पॉजिटिव और निगेटिव की सूचना दे दी जाती है।

टेस्ट करने वाला युवक कोरोना सेफ्टी के उचित संसाधनों के बिना ही सैम्पल लेकर टेस्ट कर रहा है।

देहरादून की ओर से आने वाले वाहनों को दूधाधारी पार्किंग वह सप्त ऋषि पार्किंग में शिफ्ट किया जा रहा है।

वही मौके पर ही लोगों की rt-pcr नेगेटिव रिपोर्ट देखने के साथ साथ जिन लोगों के पास यह रिपोर्ट नहीं है उनकी जांच की जा रही है।

admin