विजिलेंस ने रिश्वत लेते रजिस्ट्रार रंगे हाथ पकड़ा,रजिस्ट्रेशन के नाम पर मांगे थे पैसे

विजिलेंस ने रिश्वत लेते रजिस्ट्रार रंगे हाथ पकड़ा,रजिस्ट्रेशन के नाम पर मांगे थे पैसे

विजिलेंस ने रिश्वत लेते रजिस्ट्रार रंगे हाथ पकड़ा,रजिस्ट्रेशन के नाम पर मांगे थे पैसे

देहरादून(कमल खड़का)। विजिलेंस ने रिश्वत लेते हुए रजिस्ट्रार को रेंज हाथ गिरफ्तार किया है।

भारतीय चिकित्सा परिषद में पंजीकरण कराने के नाम पर आरोपी ने 80 हजार रुपये की माग की थी।

खास खबर- kyc करने के नाम पर कुछ इस तरह होती है ठगी, पढ़े और सतर्क रहें

दरअसल डिप्लोमा ऑफ आयुर्वेदिक मेडिशन (DAM) के डिप्लोमाधारी को प्राइवेट प्रक्टिस के लिए भारतीय चिकित्सा परिषद में राजिस्ट्रेशनकरण होता है।

जिसके लिए आरोपी पैसों की मांग कर रहा था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता भारतीय चिकित्सा परिषद उत्तराखण्ड बलवीर रोड देहरादून में रजिस्ट्रार रणवीर सिंह पंवार से मिला था।

उन्होंने उसे उसकी पत्रावली सहित पत्रावली लेकर अपने घर के पास ज्वैलर्स की दुकान के बाहर बुलाया।

विजिलेंस ने रिश्वत लेते रजिस्ट्रार रंगे हाथ पकड़ा,रजिस्ट्रेशन के नाम पर मांगे थे पैसेउससे बतौर सुविधा शुल्क/रिश्वत 80,000/-(अस्सी हजार रूपये) की मांग की।

शिकायतकर्ता ने अपनी आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुये इतनी धनराशि देने में मजबूरी जाहिर की तो रणवीर सिंह पंवार 50,000/- (पचास हजार रूपये) लेकर रजिस्ट्रेशन करने को सहमत हुआ।

शिकायतकर्ता द्वारा अपना रजिस्ट्रेशन फार्म डाॅ0 सालिव सिद्दकी के साथ जाकर रणवीर सिंह पंवार को उनके घर के पास ज्वैलर्स की दुकान के सामने दिया था।

डाॅ0 सालिव सिद्दकी के फोन पर रणवीर सिंह पंवार के द्वारा लगातार फोन आ रहे है कि बाकी रूपये दे दो।

तथा रजिस्ट्रेशन फीस के अलग से 5,000/- रूपये देने होंगे। उसके बाद ही मैं रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू करूंगा।

रणवीर सिंह पंवार द्वारा शिकायतकर्ता व उसके परिचित दोनों को बाकी के रूपये लेकर आया।

जंहा विजिलेंस ने आरोपी को पैसे लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया।

admin

One thought on “विजिलेंस ने रिश्वत लेते रजिस्ट्रार रंगे हाथ पकड़ा,रजिस्ट्रेशन के नाम पर मांगे थे पैसे

Comments are closed.