फ़ूड कॉर्पोरेशन में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों ऐंठने वाला गिरफ्तार

फ़ूड कॉर्पोरेशन में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों ऐंठने वाला गिरफ्तार

फ़ूड कॉर्पोरेशन में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार, ऐसे बनाता था बेरोजगारों को शिकार

देहरादून(अरुण शर्मा)। फूड कार्पोरेशन में नौकरी दिलाने के नाम पर । ठगी करने वाले शक्स को STF ने गिरफ्तार किया।

सरकारी नौकरी दिलाने के नाम यह शख्स दस लाख रुपए लेता था।

युवक/युवतियों को नौकरी दिलाने के नाम पर कई राज्यों लोगों को शिकार बनाता था।

फ़ूड कॉर्पोरेशन में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी
फ़ूड कॉर्पोरेशन में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी

देहरादून निवासी एक युवक ने अपने साथ हुुुई इसी तरह की ठगी की शिकायत STF में की।

जिसमे फूड कार्पोरेशन आफ इण्डिया विभाग में 10 लाख रुपये में नौकरी दिलाने की बात कही गयी।

जिस पर विश्वास करते हुये शिकायतकर्ता द्वारा अपने परिचितो एवं रिश्तेदारो से धनराशि की व्यवस्था कर

Phone pay एप व चैको व कुछ नगद के माध्यम से 10 लाख रुपये आरोपी के बैंक खातो में डाली गयी ।

आरोपी ने पीड़ित को विश्वास मे लेने हेतु *पुलिस वेरिफिकेशन भी करवाया।

खास खबर-उत्तराखंड में पिछले दस साल से कर रहा था हथियार सप्लाई,लिस्ट बहुत लंबी है

जिससे पीडित बेरोजगारो को विश्वास हो जाये की उनकी नौकरी वास्तव मे लग गयी है।

जिसके बाद फ़ूड कारपोरेशन ऑफ इंडिया का आई.कार्ड. व ज्वानिंग लैटर भी दिया गया।

फर्जी तरीके से प्रशिक्षण भी गोरखपुर उ0प्र0 मे करवाया ’गया।

उसके बाद मे जब ज्वाइनिंग लैटर मे अंकित तिथि को पीड़ित ने आरोपी से फोन किया तो उन्होने फोन नही उठाया।

इस पर शक होने पर जब शिकायतकर्ता द्वारा FCI देहरादून मे जाकर आई0कार्ड व ज्वानिंग लैटर के सम्बन्ध में पता किया तो फर्जी पाये गये।

साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून में मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई।

Stf ने मामले में पौड़ी के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया,जबकि एक व्यक्ति फरार था जिसे लखनव से गिरफ्तार किया गया।

आरोपी कपिल सैनी ने बताया कि वो व उसके अन्य साथी बेरोजगार युवक/युवतियों सरकारी विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर

उनसे लाखो रुपये अपने बैंक खाते मे व अपने साथियों के बैंक खातो मे डलवाते है।

बेरोजगार लडके/लडकियो का लखनऊ, गोरखपुर, दिल्ली आदि जगहो पर फर्जी तरीके से पुलिस वेरिफिकेशन, मेडिकल, ट्रेनिंग करवाते है।

इन लोगों के संबंध एफसीआई ,एम्स आदि के अधिकारी,कर्मचारियों से होता था।

जो लखनउ, गोरखपुर, दिल्ली में रहते है व अपराध में सहयोग करते।

आरोपी ने बताया कि वे लोग बेरोजगार युवक/युवतियों को फर्जी joining letter, FCI पहचान पत्र तैयार कर मेल व डाक आदि के माध्यम से भी भिजवाते थे।

साथ ही सरकारी विभागो की फर्जी ईमेल आईडी बनाकर बेरोजगार युवक/युवतियों को

उस ई-मेल आईडी से नौकरी के सम्बन्ध मे मेल कर उन्हे धोखाधडी का शिकार बनाते है।

आरोपी से महत्वपूर्ण जानकारी पूछताछ के दौरान मिली है उस पर कार्यवाही की जा रही है।

admin

One thought on “फ़ूड कॉर्पोरेशन में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों ऐंठने वाला गिरफ्तार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *