खनन में ऑनलाइन फर्जी रॉयल्टी
 

देहरादून(अरुण शर्मा)। खनन में ऑनलाइन फर्जी रॉयल्टी का खुलासा । होंंके से हड़कंप मच गया।

एस टी एफ ने खनन में ऑनलाइन फर्जी रॉयल्टी के मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

खास खबर-बीजेपी की बूथ स्तर की समीक्षा के पीछे की जानिए क्या है रणनीति

ये लोग फर्जी आईडी बना स्टोन क्रेशर पर इलैक्ट्रानिक माध्यम से मंगवा उसकी खरीद फरोख्त कर फर्जी वाड़ा करते थे।

खनन में ऑनलाइन फर्जी रॉयल्टी
खनन में ऑनलाइन फर्जी रॉयल्टी

इस मामले में एनआईसी के एक अधिकारी की मिलीभगत भी सामने आ रही है।

सरकारी पोर्टल पर ऑनलाईन फर्जी रॉयल्टी की कूटरचना कर अवैध खनन का व्यापार में अभी और भी गिरफ्तारी की बात कही जा रही है।

बढ़ते साईबर अपराधों में रोज नये-नये तरीके से धोखाधड़ी कर धन कमाने का प्रयास कर रहें है ।

इस मामले में साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन में पंजीकृत हुआ ।

रश्मि प्रधान जो भूतत्व एंव खनिकर्म विभाग की नोडल है ने बताया कि एक अवैध खनन का मामला प्रकाश में आया है।

जिसमें विभाग की ई-रवन्ना पोर्टल के माध्यम से एक फर्जी आई0डी0 संख्या MO61022325 का प्रयोग करके अवैध खनन किया जा रहा है।

उपरोक्त फर्जी आई0डी0 का डेटा/ विवरण भी अज्ञात लोगो द्वारा डिलिट(नष्ट) कर दिया गया है ।

अभियोग में फर्जी आई0डी0 संख्या MO61022325 विक्रम सिंह बिष्ट के नाम से पंजीकृत होना पाया गया तथा खनन से जुड़े कई लोगो के विवरण प्राप्त हुये  थे।

अभियोग मे 03 अभियुक्तो को गिरफ्तार किया जा चुका है साथ ही साक्ष्यो को आगे बढाते हुए यह बात प्रकाश मे आयी की अनिल उपरोक्त द्वारा उसके एक साथी से खनन कारोबार मे जल्दी ज्यादा मुनाफा करने की बात तय हुयी।

उसके बाद फर्जी आईडी को अपने स्टोन क्रेशर पर इलैक्ट्रानिक माध्यम से मंगवायी एवं उसकी खरीद फरोख्त जारी रखी।

खरीद फरोख्त से सम्बन्धित काफी फ़र्ज़ी रवन्ना व दस्तावेज अभियुक्त से बरामद कम्प्यूटर उपकरणो मे भी मिले है जिसमे इस अवैध कारोबार से जुड़े अन्य लोगो के बारे मे भी महत्वपूर्ण सूचनायें प्राप्त हुयी है ।

विवेचना में एनआईसी उत्तराखण्ड के एक अधिकारी की भी संलिप्तता के साक्ष्य मिले है जिसके सम्बन्ध में विवेचनात्मक कार्यवाही चल रही है।

अभियुक्त अनिल कुमार हाल सिद्धान्त स्टोन क्रेशर सहीद वाला ग्रांट बुग्गावाला ,हरिद्वार उपरोक्त से बरामद लैपटॉप व फोन से अनेक महत्वपूर्ण सूचनायें एवं अवैध खनन कारोबार से जुड़े अन्य लोगो के विषय मे काफी महत्वपूर्ण सूचनायें मिली।

अभियुक्त को विवेचना में प्राप्त हुये साक्ष्यो के आधार पर धारा 420, 471, 201, 120बी भादवि व 66, 66सी आईटी एक्ट के अन्तर्गत गिरफ्तार किया गया है।

बरामद कम्प्यूटर उपकरणो को अन्य साक्ष्यो के संकलन हेतु विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा जायेगा ।

अभियुक्त से बरामदगी-
01 अदद लैपटॉप, 01 मोबाईल फोन VIVO, विभिन्न इलैक्ट्रानिक दस्तावेज यथा फर्जी रॉयल्टी, रवन्ना एवं जीएसटी से सम्बन्धित दस्तावेज ।

 

 

By admin

One thought on “खनन में ऑनलाइन फर्जी रॉयल्टी का हरिद्वार में हो रहा था खेल,एस टी एफ ने पकड़ा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *