​वन दरोगा रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार,इस काम के लिए मांग रहा था पैसे

​वन दरोगा रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार,इस काम के लिए मांग रहा था पैसे

नैनीताल(कमल खड़का)। वन दरोगा को रिश्वत लेते विजिलेंस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया हैं। सीज किये गये डम्पर को छोड़ने की एवज में दो लाख रुपये की मांग की गयी थी। शिकायतकर्ता ने रिश्वत न देकर उसे विजिलेंस के हाथों रंगे हाथों पकड़वा दिया। आरोपी वन दरोगा शैलेन्द्र चौहान गुलज़ार पुर वन चौकी, तराई पश्चिमी वन प्रभाग, रामनगर में तैनात था।

खास खबर—Live vedio-युवती ने किस तरह से लगाई गंगनहर में छलांग, युवकों के बचाने की कोशिश बेकार
शिकायत कर्ता फईम अहमद के अनुसार बंजारी गेट रामनगर के अंदर वन विभाग की टीम ने सीज किये थे। हमारी गाड़ियां गलत सीज की गईं थीं क्योंकि हमारे अंदर जाने का पास टोकन भी था। जब मैं और नियाज़ उसे छुड़वाने के लिए रेंजर साहब से मिले तो उन्होंने हमसे वन दरोगा शैलेन्द्र चौहान से मिलने को कहा। दरोगा शैलेन्द्र चौहान ने 02 लाख रुपये की मांग की।

शिकायतकर्ता ने बताया कि गाड़ी छूडवाने के लिए दो लाख की मांग की गयी और रसीद देने के नाम पर केवल 50 हजार की रसीद देने की बात कही गयी। फईम ने इसकी शिकायत सतर्कता विभाग में की। जिसके बाद आरोपी को रंगे हाथ पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया। दो अप्रैल को आरोपी को 1 लाख के साथ रामनगर भवानी गंज चौराहे से गिरफ्तार किया है।

इस शिकायत की जांच करने पर तथ्य सही पाए जाने के बाद निरीक्षक श्री राम सिंह मेहता के नेतृत्व में एक ट्रैप टीम का गठन किया गया जिसने आज दिनांक 02/04/19 को शैलेन्द्र चौहान पुत्र श्री भारत सिंह, निवासी पट्टी चौहान, जसपुर, जनपद उ० सि०नगर, तैनाती गुलज़ार पुर वन चौकी, तराई पश्चिमी वन प्रभाग, रामनगर को रंगे हाथों

admin