स्टोन क्रेशर में करता था काम, मशीन से लगा करंट उसके बाद जो हुआ गलत हुआ

स्टोन क्रेशर में करता था काम, मशीन से लगा करंट उसके बाद जो हुआ गलत हुआ

सुल्तानपुर(नाथीराम कश्यप) टांडा महतोली गांव के निकट स्थित स्टोन क्रेशर में रात्रि के समय काम करते हुए बाड़ीटीप गांव निवासी एक किशोर की करंट लगने के चलते मौत हो गई।

मौत के बाद मौके पर पहुंचे अन्य काम करने वाले लोगों ने किशोर को उठाकर अस्पताल ले गए। जहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

परिजनों का आरोप है कि साथ गए लोग किशोर के शव को सरकारी अस्पताल में छोड़कर चले आए।

उन्होंने मामले की जानकारी परिजनों को भी नहीं दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पंचनामा भरकर पीएम के लिए भेज दिया है।

सुल्तानपुर क्षेत्र के बाड़ीटीप गांव निवासी किशोर जॉनी पुत्र सुरेंद्र उम्र 17 वर्ष टांडा महतोली गांव के पास स्थित एक स्टोन क्रेशर में काम करता था।

बताया जा रहा है कि मंगलवार रात्रि स्टोन क्रेशर में काम करते समय रात्रि करीब 9:00 बजे जॉनी को बिजली का करंट लग गया।

जिसके चलते जॉनी की मौके पर ही मौत हो गई। यह देख आसपास काम कर रहे अन्य लोग मौके पर आए जॉनी को बेसुध पड़ा देखा तो उसे उठाकर सरकारी अस्पताल हरिद्वार ले गए।

वहां पर डॉक्टर ने जॉनी को देखकर मृत घोषित कर दिया। परिजनों का आरोप है कि जॉनी के शव को अस्पताल ले जाने वाले लोग उसे अस्पताल में ही छोड़कर चले आए।

आरोप है कि स्टोन क्रेशर स्वामी या अन्य किसी कर्मचारी ने भी जॉनी के परिजनों को कोई सूचना नहीं दी।

परिजनों का कहना है कि उनके जानने वाले सरकारी अस्पताल में मौजूद थे, उन्होंने मामले की जानकारी मृतक किशोर के परिजनों को दी।

तब जाकर परिजन सरकारी अस्पताल हरिद्वार पहुंचे और मामले की जानकारी 100 नंबर पर पुलिस को दी। तब जाकर पुलिस मौके पर पहुंची।

जॉनी की मौत की खबर सुनते ही गांव में मातम छा गया है।

सुल्तानपुर पुलिस चौकी प्रभारी लोकपाल परमार का कहना है कि मृतक के शव का पंचनामा भरकर पीएम कराया जा रहा है। मामले की तहरीर और पीएम रिपोर्ट आने पर जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

admin