उत्तराखंड में महफूज नहीं बेटीयां
 

सुल्तानपुर(नाथीराम कश्यप)। उत्तराखंड में नहीं महफूज महिलायें। अभी पौड़ी की छात्रा की चिता की आग ठंडी भी नहीं हुई थी कि हरिद्वार के सुल्तानपुर में एक और छात्रा के साथ छेड़खानी की घटना सामने आयी। मामला भिक्कमपुर चौकी छेत्र का हैं। जंहा स्कूल से घर जा रही कक्षा 9 छात्रा के साथ युवक ने छेड़खानी की। छात्रा के शोर मचाने पर आये ग्रामिणों ने युवक की न केवल जमकर पिटाई की अपितु उसे पुलिस के हवाले भी कर दिया।

खास खबर—यदि आप है शुगर के मरीज तो यह खबर आपके लिए है खास..ऐसे रखें ख्याल..

जानकारी के अनुसार भिक्कमपुर पुलिस चौकी क्षेत्र के एक गांव निवासी कक्षा 9 की छात्रा सोमवार दोपहर करीब 2:30 बजे स्कूल से वापस अपने घर जा रही थी। छात्रा जैसे ही गांव के पास पहुंची तो छात्रा को अकेली देख रास्ते में खड़े एक किशोर ने उसे पकड़ लिया और उसके साथ अभद्र व्यवहार किया। छात्रा द्वारा शोर मचाए जाने पर आसपास खेतों में काम कर रहे ग्रामीण मौके पर आ गए। ग्रामीणों को मौके पर आता देख किशोर छात्रा को छोड़कर भागने लगा। ग्रामीणों ने पीछा कर किसी तरह किशोर को पकड़ लिया और जमकर धुनाई की। इसी बीच किसी ग्रामीण ने मामले की सूचना भिक्कमपुर पुलिस को दी । छात्रा के साथ अभद्र व्यवहार किए जाने की सूचना पर भिक्कमपुर पुलिस मौके पर पहुंची। ग्रामीणों ने किशोर को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस किशोर को भिक्कमपुर पुलिस चौकी ले आई। भिक्कमपुर पुलिस चौकी प्रभारी यशवीर सिंह नेगी का कहना है कि ग्रामीणों की सूचना पर छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने वाले किशोर को पकड़ लिया है। मामले की जांच की जा रही है जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

उत्तराखंड में असुरक्षित बेटीयां

बीते वर्षों में महिलाओं का उत्पीड़न रोकने के लिए कई दावे किए गए। यहां महिला सेल से लेकर हेल्पलाइन नंबर तक जारी कर अपराधों पर अंकुश लगाने के प्रयास के दावे हुए, लेकिन आंकड़े इन दावों की पोल खोल रहे हैं। तीन वर्ष के तुलनात्मक आंकड़ों पर गौर करें तो हर वर्ष स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। वर्ष-2016 में महिलाओं के उत्पीड़न के 1795 मामले दर्ज किए गए थे। वर्ष-2017 में इनमें 14 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई और यह आंकड़ा 2045 तक पहुंच गया। इसमें प्रथम स्थान हरिद्वार जिले का है। दूसरे नंबर पर राजधानी देहरादून है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *