ठगस आॅफ दून के ठगी का अनूठे तरीके ने विदेशीयों को भी नहीं छोड़ा

ठगस आॅफ दून के ठगी का अनूठे तरीके ने विदेशीयों को भी नहीं छोड़ा

देहरादून(अरुण शर्मा)। ठगस आॅफ दून जी हां देहरादून में बैठे इन ठगो ने विदेशो में ठगी का ऐसा जाल बिछाया। जिसका खुलासा होने पर हर कोई दंग रह गया। मामला देहरादून पुलिस के खुलासे के बाद सामने आया। पुलिस के अनुसार देहरादून से पकड़े गये ये ठग अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा में लोगों को करोड़ों रुपये का चूना लगा चुके हैं। ये लोग कॉल सेंटर से माइक्रोसॉफ्ट के फर्जी पॉप अप भेज उसे हटाने के नाम पर पैसा वसूलते थे।

खास खबर—प्यार में पागल नौ बच्चों की मां के इस कदम से सब हैरान,मामला हरिद्वार का

मामला राजधानी देहरादून के पटेलनगर और क्लेमेंटटाउन थाना क्षेत्र का है जंहा पर पुलिस ने कॉल सेंटर में छापेमारी के दौरान पांच लोगों को हिरासत मेंं लिया। उनसे पुलिस पूछताछ में जो सच सामने आया उसने सभी के होश उड़ा दिये। दरअसल कुछ दिन पहले माइक्रोसॉफ्ट कंपनी और कनाडा पुलिस ने देहरादून पुलिस से संपर्क कर ठगी की बात कही तो पुलिस ने कार्यवाही करते हुए मामले का खुलासा किया।

SSP निवेदिता कुकरेती ने बताया कि करीब दस दिन पहले रॉयल कनेडियन माउंटेड पुलिस ने उन्हें सूचना दी थी कि देहरादून से कुछ लोग वहां के नागरिकों को ठग रहे हैं।
इस सूचना पर गोपनीय जांच की गई। मंगलवार रात करीब दो बजे पुलिस की चार टीमों ने ट्रांसपोर्ट नगर स्थित संधू सेंटर और बिजनेस पार्क में चार कॉल सेंटरों में छापे मारे। यहां से पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया।

ठगी का नायाब तरीका
पुलिस की जांच में सामने आया कि पांचों आरोपी अच्छे पढ़े लिखे और साइबर एक्सपर्ट हैं। ये कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका में ऑनलाइन रहने वाले कंप्यूटर चलाने वालों को निशाना बनाते थे। इस पर वे अपने सर्वर से एक पॉप-अप (चेतावनी संदेश) भेजते थे। यह संदेश हूबहू माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के पॉप अप जैसा होता था। इस पॉप अप के स्क्रीन पर आने से कुछ देर के लिए स्क्रीन ढक जाती थी और जैसे ही यूजर इस पर क्लिक करता तो उसे एक टॉल फ्री नंबर दिखता था। जिस पर फोन आने पर ये लोग बड़ी रकम वसूलते थे। पुलिस जांच में इनके द्वारा कई लोगों को अपनी ठगी का शिकार बना चुके हैं।

admin